अखिलेश यादव ने किया आगरा दौरा, प्रदेश सरकार पर साधा निशाना।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को अपने मित्र और कोरोना काल में दिवंगत हुए कार्यकर्ताओं के घर शोक संवेदना व्यक्त करने आगरा पहुंचे। इस दौरान उन्होंने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सड़क पर निकलोगे तो कई लोग डराने वाले मिल जाएंगे। अखिलेश ने शिवपाल के पार्टी में आने के सवाल पर कहा कि, चाचा शिवपाल का पूरा सम्मान है और उनके साथ आने वालों का भी स्वागत है। 2022 में जनता परिवर्तन चाहती है और यह ऐतिहासिक होगा। जहरीली शराब कांड पर अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में भाजपाई ही शराब की ब्रिकी करवा रहे हैं, यह बात सबके सामने आ चुकी है। उन्होंने से प्रदेश में बुखार से हो रही बच्चों की मौतों को लेकर सरकार पर सवाल उठाए। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी हमेशा किसानों के साथ है। हम किसानों को बधाई देते हैं कि उन्होंने इतना बड़ा आंदोलन किया है। सरकार को किसानों का सम्मान करना चाहिए, क्योंकि किसान की वजह से हमें रोटी और कपड़ा मिलता है। सरकार ने कहा था कि हम किसानों की आय दोगुनी कर देंगे पर आय तो दोगुनी नहीं हुई, लेकिन महंगाई जरूर दोगुनी हो गई।

असद्दुदीन ओवैसी के यूपी में चुनाव लड़ने पर कहा कि उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा प्रदेश है। चुनाव आ रहे हैं, यहां अभी और नेता भी आएंगे।
अखिलेश यादव ने कहा कि कई गांवों में 200-300 बच्चे बीमार हैं। रोजाना बच्चों की मौतें हो रही हैं। हमारे कार्यकर्ताओं ने कई गांवों में बीमार बच्चों की लिस्ट दी है। बुखार से बच्चे मार रहे हैं। अस्पताल भरे हुए हैं, यह डेंगू है या कोई और बीमारी है, सरकार को ध्यान देना चाहिए। सरकार पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना में सरकार ने बहुत काम किया था सबने देखा है। उम्मीद है सरकार बच्चों की जान जरूर बचा लेगी।
आगामी चुनाव में अखिलेश यादव हर दल के साथ मेल जोल की योजना बना रहे हैं। अपने भाषणों में वो भाजपा के अलावा अन्य किसी भी दल के लिए कुछ गलत टिप्पड़ी करने से बच रहे हैं। चुनाव में गठबंधन की बात पर उन्होंने कहा कि पिछली बार हमने मायावती के साथ गठबंधन किया था, पर इस बार हम किसी बड़े दल से गठबंधन नहीं करेंगे। हमारा छोटे दलों से गठबंधन होगा। चाचा शिवपाल के लिए हमने जसवंत नगर सीट छोड़ दी है। उनका पूरा सम्मान किया जायेगा और जो उनके साथ हैं ,उनका भी पूरा सम्मान किया जाएगा।
भाजपा सरकार द्वारा विपक्ष पर लगातार मुकदमे दर्ज करने की बात पर उन्होंने कहा कि सड़क पर निकलोगे तो कई लोग डराने वाले मिल जाएंगे। राजनैतिक लोग मुकदमों से नहीं डरते हैं। अपनी चुनावी रणनीति को लेकर अखिलेश यादव जीत के लिए बिल्कुल आश्वस्त दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि जनता परिवर्तन चाहती है और यह ऐतिहासिक होगा।


अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपाई ही जहरीली शराब बिकवा रहे हैं। अगर सही से जांच हो जाए तो सब भाजपाई ही इस काम में लिप्त मिलेंगे। यह सबके सामने आ चुका है।
अखिलेश यादव अपने मित्र मन्नू की माता के निधन पर शोक व्यक्त करने उनके घर पहुंचे थे। इसके साथ ही उन्हें समाजवादी पार्टी के शहर अध्यक्ष रहे स्व रईसउद्दीन कुरैशी के घर और पूर्व मंत्री रहे सलोनी ऑयल के मालिक स्व. शिव कुमार राठौर के घर भी शोक संवेदनाएं व्यक्त करनी थी। आगरा आगमन के दौरान रमाडा तिराहे से ही कार्यकर्ताओं ने उनके साथ चलना शुरू कर दिया और उनका भव्य स्वागत किया।
फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल फीवर से हो रहीं बच्चों की मौतों को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। सोमवार को आगरा पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा कि कोरोना संकटकाल में क्या व्यवस्थाएं थीं, सबने देखीं। सरकार कम से कम अब बच्चों की जान तो बचा ले।
उन्होंने कहा कि फिरोजाबाद में बीमारी से हर गांव में 50 से 100 बच्चे और बड़े बीमार हैं। कई गांव ऐसे हैं, जहां दो-दो तीन-तीन सौ मरीज हैं। अस्पताल भरे पड़े हैं। हमें उम्मीद है कि सरकार इस पर ध्यान देगी। अच्छा इलाज कराएगी। उन्होंने कहा कि कोविड में क्या हुआ ये हम सबको पता है। कई लोगों ने अपनों को खोया है।
अखिलेश यादव ने कहा कि किसानों का सम्मान भारतीय जनता पार्टी को करना चाहिए। किसानों का अपमान देश स्वीकार नहीं करेगा। मुजफ्फरनगर में किसान इकट्ठा हुए। सपा उनके साथ खड़ी है। किसानों को आय दुगनी करने के सपने दिखाने वाली भाजपा ने महंगाई बढ़ा दी। केंद्र व राज्य सरकार को बढ़ती महंगाई पर भी जवाब देना होगा।


सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव कोरोना काल में दिवंगत सपा नेताओं के परिजनों से मिलने आगरा आए थे। उन्होंने सबसे पहले खंदारी स्थित मन्नू अलग की मां को श्रद्धांजलि देने गए। यहां से दिवंगत सपा नेता रईसुद्दीन के धौलपुर हाउस स्थित आवास पर पहुंचे। रईसुद्दीन की पत्नी जेबा रईस और पुत्र महानगर उपाध्यक्ष रिजवानुद्दीन प्रिंस से मिले और शोक संवेदनाएं व्यक्ति कीं।
अखिलेश यादव ने उनके परिजनों से कहा कि मैंने रईसुद्दीन की जान बचाने के लिए प्रयास किए। रेमिडिसिवर इंजेक्शन से लेकर खुद चिकित्सक से बात की, मुझे दुख है कि उन्हें बचा नहीं सके। इस दौरान रईसुद्दीन के पुत्र शाकिब, कासिफ के अलावा सपा नेताओं से मुलाकात की। करीब 30 मिनट मिलने के बाद विभव नगर स्थित शिव कुमार राठौर के घर गए।
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लखनऊ एक्सप्रेसवे पर होकर आगरा पहुंचे। आगरा के पहुंचने से पहले फतेहाबाद एक्सप्रेसवे टोल प्लाजा पर उनका जोरदार स्वागत किया गया। अखिलेश यादव गाड़ी से बाहर आ गए और कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया।

रिपोर्ट – आर डी अवस्थी

Leave a Reply

Your email address will not be published.