एक तरफ पूर्व मंत्री छोटे लाल यादव दूसरी तरफ ब्लाक प्रमुख धर्मेंद्र, यादव वोटों में बीजेपी लगा रही है सेंध!

बाराबंकी सदर यानी नवाबगंज विधानसभा पर इस बार कब्जा जमाने के लिए बीजेपी ने पूरा जोर लगा दिया है । एक तरफ तो ओबीसी समाज से एक शिक्षित महिला प्रत्याशी को घोषित करके बीजेपी ने विधानसभा क्षेत्र की समस्त महिलाओं को भावनात्मक आमंत्रण दिया है

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी से जुड़े रहे कई प्रभावशाली यादव नेताओं को तोड़कर अपने खेमे में शामिल करके विधानसभा क्षेत्र में बहुसंख्यक यादव मतदाताओं को भी भाजपा ने आमंत्रण और संदेश देने का प्रयास किया है और यह भरोसा दिलाया है कि भाजपा में यादव समाज को भी पूरा सम्मान मिलेगा।

पूर्व मंत्री छोटे लाल यादव सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के करीबी थे और नवाबगंज विधानसभा में यादव समाज में उनका बड़ा असर माना जाता है आज भी यादव समाज में उनका सम्मान कायम है और अब वह भारतीय जनता पार्टी के लिए वोट मांग रहे हैं लोगों से अपील कर रहे हैं कि अपने समाज के बेहतर भविष्य के लिए उत्तर प्रदेश और देश के बेहतर भविष्य के लिए भारतीय जनता पार्टी को वोट करें ।

इसी तरह ब्लाक प्रमुख धर्मेंद्र यादव के पहले समाजवादी पार्टी में थे लेकिन वह भी अखिलेश यादव पर यादव समाज के साधारण लोगों के अपमान करने का आरोप लगाते हैं और यादव समाज से भाजपा के साथ राष्ट्रहित में जुड़ने की अपील कर रहे हैं।

दो बड़े यादव नेताओं के प्रयासों से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी राम कुमारी मौर्या को फायदा होता दिख रहा है भाजपा से जुड़े यादव नेताओं के मुताबिक यादव समाज अब यह सोचने पर विवश हो गया है कि उसे अन्य राजनीतिक विकल्प पर भी विचार करना चाहिए।

द इंडियन ओपिनियन
बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.