कल्याणी नदी की कोख में समाये युवक का दूसरे दिन शाम को मिला शव।

खबर बाराबंकी से है जहाँ तहसील राम सनेहीघाट अंतर्गत दरियाबाद भिटरिया सम्पर्क मार्ग पर ग्राम तासीपुर निकट कल्याणी नदी तट पर बुढ़वा बाबा शिव मंदिर है, जहाँ पर सोमवार को आसपास के क्षेत्र से शिव भक्त पूजा अर्चना करने आते हैं,
ऐसे में लगभग 5 वर्ष से भानपुर निवासी सहजराम पुत्र बरसाती उम्र लगभग 36 वर्ष हर सोमवार आता था और कल्याणी नदी में स्नान कर शिव मंदिर में पूजा अर्चना करता था।

इस बार शायद कुदरत को कुछ और ही मंजूर था, प्रत्येक सोमवार की भाँति सहजराम नदी में स्नान कर रहा था तभी रौद्रमुखी कल्याणी नदी में उसका पैर फिसल गया और वह गहरे पानी में डूबने लगा।सहजराम को डूबता देख वहां पर मौजूद लोगों में कोहराम मच गया देखते ही देखते सहज राम कल्याणी नदी की कोख में समा गया।

सूचना मौके पर मौजूद लोगों ने प्रशासन को दी सूचना पाते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और स्थानीय गोताखोरों को बुलवाकर नदी में खोज शुरू की घटना की सूचना पाते ही दरियाबाद विधायक सतीश चंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे विधायक को देखते ही परिजन फूट-फूटकर रो पड़े और मदद मांगने लगे हैं विधायक ने परिजनों को ढांढस बंधाते हुए सर्च ऑपरेशन का जायजा लिया और सर्च ऑपरेशन में तेजी लाने के निर्देश दिए व जिला प्रशासन से एनडीआरएफ टीम की मदद मांगी और इस घटना पर दुःख व्यक्त किया। घटना से 1 दिन पूर्व सहादतगंज में गणेश प्रतिमा विसर्जन करते समय 5 लोग नदी में डूब गए थे जिसकी वजह से एनडीआरएफ की टीम वहां पर व्यस्त थी जिसकी वजह से मौके पर उपलब्ध नहीं हो पाई लेकिन स्थानी गोताखोर सर्च ऑपरेशन जारी रखें लेकिन देर शाम तक शव बरामद नहीं हो पाया।

घटना के दूसरे दिन रामसनेहीघाट सीओ रघुवीर सिंह कोतवाल अजय त्रिपाठी एसआई महेंद्र सिंह अपने दल बल के साथ मौजूद रहे, सीओ रामसनेहीघाट ने एनडीआरएफ टीम को बुलवाया व सर्च ऑपरेशन तेजी से शुरू किया एनडीआरएफ टीम की कड़ी मशक्कत के बाद दूसरे दिन शाम को शव डूबे हुए स्थान से लगभग 2 किलोमीटर दूर रामपुर के निकट नदी में मिला शव मिलने से क्षेत्र में कोहराम मच गया।

पुलिस ने कानूनी कार्यवाही करते हुए शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है।

रिपोर्ट- हर्ष शुक्ला

Leave a Reply

Your email address will not be published.