कांग्रेस के इकलौते ब्लॉक प्रमुख पर यूपी पुलिस ने घोषित किया 25 हज़ार का इनाम।

यूपी के बलरामपुर नगर में दिनदहाड़े अपने समर्थकों के साथ गुंडाई करने आरोपी हर्रैया सतघरवा ब्लॉक के प्रमुख विशाल सिंह पर अब कानूनी शिंकजा कसता नज़र आ रहा है। 10 अक्टूबर को वरिष्ठ अधिवक्ता और पुलिसकर्मियों से गुंडाई करने, जान से मारने की धमकी देने, मारपीट करने, लूट करने और अवैध कब्ज़ा करने के आरोप में फरार चल रहे ब्लॉक प्रमुख पर अब पुलिस अधीक्षक ने 25 हज़ार का इनाम घोषित किया है। घटना के बाद से ही आरोपी ब्लॉक प्रमुख फरार चल रहा है। जबकि अन्य नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

क्या है मामला, क्यों दर्ज़ हुई थी एफआईआर :-

मामला कोतवाली नगर के चुंगी नाका इलाके से जुड़ा हुआ है। यहां 10 अक्टूबर को पूरबटोला इलाके के रहने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता सनातन देव त्रिपाठी की चुंगी नाके के पास जमीन है, जिसका मुक़दमा चल रहा है। वरिष्ठ अधिवक्ता के अनुसार, उन्हें सूचना मिली कि जमीन पर कोई कब्ज़ा करने की नीयत से जेसीबी से खुदाई करवा रहा है। तो वह पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि उनकी ज़मीन पर काम चल रहा है तो उसे रुकवाने का प्रयास किया।

पुलिसकर्मियों से भी हुई थी हाथापाई :-

वरिष्ठ अधिवक्ता के अनुसार, बातचीत चल ही रही थी कि कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह धीरू के भतीजे व ब्लॉक प्रमुख विशाल सिंह, जितेंद्र प्रताप सिंह व उनके 20 साथियों मारपीट व अभद्रता शुरू कर दी। जिसमें वह घायल हो गए। इस दौरान घटना का वीडियो बना रहे पुलिस आरक्षियों से भी मारपीट व अभद्रता की और मोबाइल छीन लिया। बाद में घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था।

कई अभियुक्त हो चुके हैं गिरफ्तार :-

सीओ सिटी वरुण मिश्र ने बताया कि पिछले दिनों हर्रैया सतघरवा के ब्लॉक प्रमुख विशाल सिंह और उनके साथियों द्वारा एक वरिष्ठ अधिवक्ता सनातन देव त्रिपाठी के मारपीट की गई और पुलिस बल के पहुंचने पर उनके साथ अभद्रता और मोबाइल छीनने का काम किया गया था। इस संबंध में कोतवाली नगर मुकदमें पंजिकृत किए गए थे। इसमें पुलिस द्वारा जो भी नामजद अभियुक्त थे उन्हें गिरफ्तार करके विधिक कार्रवाई की जा रही है।

ब्लॉक प्रमुख पर घोषित हुआ इनाम :-

उन्होंने बताया कि इन्हीं मुकदमों में ही हर्रैया सतघरवा के ब्लॉक प्रमुख भी वांछित हैं। पुलिस द्वारा उनकी भी गिरफ्तारी का काफी प्रयास किया जा रहा है लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इस संबंध में न्यायालय द्वारा एनबीडब्ल्यू भी मिल चुका है। इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल द्वारा उनके ऊपर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। हम लगातार दबिश दे रहे हैं लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो पा रही है। वह फ़रार चल रहे हैं।

रिपोर्ट – योगेंद्र त्रिपाठी, बलरामपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.