कौन बनेगा MLA? हैदरगढ़ में गौतम रावत,”हर गांव हर बूथ सपा की टीम हो मजबूत”!

बाराबंकी की सभी 6 विधानसभा सीटों में हैदरगढ़ विधानसभा का अपना एक गौरवशाली इतिहास रहा है। एक जमाने में तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह की विधानसभा रहने की वजह से हैदरगढ़ ने विकास के उस सपने को छुआ है, जो पूरा भले ही ना हुआ हो लेकिन अरमानों की ऊंची उड़ान में हैदरगढ़ वालों के स्वाभिमान को जरूर जिले में सबसे ऊपर रखा है।

हैदरगढ़ पर समाजवादी झंडा लहराने में जुटे गौतम रावत।

वर्तमान में यह सीट भारतीय जनता पार्टी के पास है और 2022 के महासमर में भारतीय जनता पार्टी से सीट छीन कर समाजवादी खेमे में वापस लाने के लिए युवा नेता गौतम रावत ने पूरा जोर लगा दिया है । काफी समय से गौतम रावत हैदरगढ़ कि गांव और गलियों में हर खास ओ आम से मिल रहे हैं, क्षेत्र में दर्जनों मीटिंग और जनसभाएं कर चुके हैं।

गौतम ने बनाई है हजारों युवाओं की समर्पित टीम:

अपनी युवा टीम के साथ अक्सर रोड शो भी करते हैं और हजारों कार्यकर्ताओं को गांव गांव और बूथ बूथ पर सपा की टीम मजबूत करने के लिए प्रेरक मंत्र भी दे चुके हैं ।

गौतम रावत का राजनीतिक प्रबंधन देखने लायक है, वह उत्तर प्रदेश के उन गिने-चुने नेताओं में शामिल है, जिन्होंने सबसे पहले विधानसभा चुनाव की तैयारी में अपनी किलेबंदी को मजबूत करना शुरू कर दिया।

अब हैदरगढ़ ही मेरा घर है गौतम रावत

गौतम रावत बताते हैं कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर वह हैदरगढ़ में अपना मकान भी बना रहे हैं और बहुत जल्दी हैदरगढ़ में ही अधिकांश समय निवास करेंगे क्योंकि उनकी हैदरगढ़ की जनता की सेवा करने का फैसला किया है।

पार्टी के संगठन का उन्हें पूरा सहयोग मिल रहा है और दिन भर पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ पूरी विधानसभा में लोगों से मुलाकात करते हैं। जगह-जगह कार्यकर्ताओं और पार्टी के समर्थकों के छोटे बड़े सम्मेलन आयोजित कर रहे हैं, जिससे कार्यकर्ताओं को मिशन 2022 के लिए प्रेरित किया जा सके और सब के समन्वित प्रयास से अखिलेश जी को एक बार फिर मुख्यमंत्री बनाया जा सके ।

हैदरगढ़ के लोगों को याद है समाजवादी सरकार में मिलने वाली सुविधाएं:

गौतम रावत कहते हैं कि हैदरगढ़ की जनता बहुत समझदार है लोगों को आज भी याद है की समाजवादी पार्टी की सरकार में न सिर्फ आसानी से लोगों के काम होते थे बल्कि लोगों को तमाम सरकारी योजनाओं का भी फायदा मिल रहा था। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता मिल रहा था और गांव गांव में सड़कों और पुलों का काम हो रहा था।

पिछले 5 साल में उत्तर प्रदेश पीछे चला गया है और अब उत्तर प्रदेश की जनता चाहती है कि समाजवादी पार्टी फिर से सरकार में आए और उत्तर प्रदेश में सभी वर्गों के लोगों का चौमुखी विकास हो सके।

द इंडियन ओपिनियन बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.