देवस्थान के करीब कूड़ाघर प्रस्तावित! जनता में आक्रोश, प्रशासन ने अलग स्थान देने की बात कही।

◆मंदिर व आबादी के पास कूड़ा घर बनाने को लेकर ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन
◆एसडीएम के आश्वासन पर समाप्त हुआ धरना, अलग स्थान देने की कही बात

हैदरगढ़/बाराबंकी। मंदिर आबादी व देवस्थान के पास कूड़ा घर बनाने को लेकर ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। नगर पंचायत सुबेहा द्वारा पूरे पलिहारन पुरवा वार्ड में कूड़ा घर बनाने के लिए 2018 में अधिशासी अधिकारी द्वारा शासन को प्रस्ताव भेजा गया था, ग्रामीणों का आरोप है कि गांव के सैकड़ों वर्ष पुराने कुल देवी काली माता के मंदिर को हटाने की साजिश की जा रही है।

साजिश के तहत कूड़ा घर की स्थापना की जाएगी। जिससे ग्रामीण आज काफी उग्र हो गए और प्रदर्शन करने लगे। वहीं ग्रामीणों ने जिला अधिकारी व उप जिलाधिकारी हैदरगढ़ शालिनी प्रभाकर से शिकायत की थी।

जिसका निरीक्षण करने उप जिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर व लेखपाल संतोष कुमार मौके पर पहुंचे तो सैकड़ों की संख्या में मौजूद ग्रामीण कूड़ा घर बनाने को लेकर आक्रोशित हो गए क्योंकि जिस भूमि पर कूड़ा घर बनना है। उस भूमि पर सैकड़ों वर्ष पुराना कुल देवी काली माता का मंदिर स्थापित है इस मंदिर पर पूरे जबर सिंह, सराय चंदेल व आसपास के ग्रामीण पूजा करने आते है। प्रत्येक वर्ष मार्च के माह में यहां पर विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है यही नहीं, उसी मंदिर से थोड़ी दूर पर प्राथमिक विद्यालय व 50 मीटर पर सराय चंदेल व 100 मीटर पर पूरे जबर सिंह गांव स्थित है।

एसडीएम शालिनी प्रभाकर ने ग्रामीणों को आश्वस्त कराते हुए आश्वासन दिया की कूड़ा घर के लिए दूसरी जमीन नगर पंचायत में तलाश की जाएगी।

प्रदर्शन में प्रमुख रूप से ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि रामदेव सिंह खानपुर, प्रधान प्रतिनिधि अवधेश सिंह चंदेल, सभासद रामजस कश्यप, कोटेदार सुरेश सिंह, सुनील सिंह, रणधीर सिंह, प्रधान सोनू सिंह, अंगद सिंह, धर्मेंद्र सिंह, रामबरन तिवारी, जग बहादुर सिंह, रामकरण सिंह, सभासद इसरार अहमद, रामकली, सुनीता, जगरूपा व सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण व नगरवासी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- मनोज मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published.