नोटबंदी और कुशासन से उपजी मंदी और बेरोजगारी से गरीब बर्बाद -डॉ विवेक सिंह वर्मा

“नोटबंदी और बीजेपी सरकार के कुशासन के चलते सबसे ज्यादा नुकसान गरीबों को हुआ है देश में काले धन का शोर मचा कर सरकार ने प्रचलन में रहे पुराने नोटों को बदल दिया महीनों तक पूरे देश को बैंकों में लाइन पर लगना पड़ा उद्योग धंधे चौपट हो गए बहुत से गरीब अशिक्षित बुजुर्ग लोग अपने जीवन भर की जमा पूंजी को बैंकों में नहीं बदल पाए उनकी जमा पूंजी बर्बाद हुई इसके अलावा छोटे व्यापारियों किसानों गरीबों और मजदूरों की आर्थिक स्थिति चौपट हो गई ।”

यह बातें डॉक्टर विवेक सिंह वर्मा ने नवाबगंज विधानसभा में अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान कार्यकर्ताओं और समर्थकों से कहीं उन्होंने जनपद वासियों से अपील की है की प्रदेश के सर्वांगीण विकास ईमानदार सरकार और अनुशासन युक्त प्रशासन के लिए बहुजन समाज पार्टी को वोट करें ।

डॉ विवेक सिंह वर्मा नवाबगंज विधानसभा से बहुजन समाज पार्टी के प्रभारी और प्रत्याशी हैं डॉक्टर विवेक सिंह वर्मा कहते हैं कि “लोगों को आज भी याद है कि बसपा सरकार में थानों और तहसीलों में सभी सरकारी दफ्तरों में इमानदारी से जनता का काम होता था अधिकारियों को सरकार का डर था दलितों और पिछड़ों अल्पसंख्यकों को प्राथमिकता के आधार पर न्याय मिलता था उनकी सुनवाई सबसे पहले होती थी”

डॉ विवेक सिंह वर्मा ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार और उसके बाद भाजपा की सरकार के कुशासन भ्रष्टाचार और अराजकता के चलते उत्तर प्रदेश में उद्योग धंधे बर्बाद हुए हैं बेरोजगारी बढ़ी है और कानून व्यवस्था की स्थिति भी चौपट हुई है थानों और तहसीलों में गरीबों दलितों पिछड़ों की सुनवाई नहीं होती इसलिए सब को एकजुट होकर बहुजन समाज पार्टी की सरकार को सत्ता में लाना आवश्यक है।

द इंडियन ओपिनियन
बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.