प्रतिदिन दर्जनों ऑपरेशन सैकड़ों मरीजों का इलाज, फिर वोट मांगने निकलते हैं डॉ विवेक सिंह वर्मा!

बाराबंकी का चुनावी मैदान इस बार बहुत रोचक हो गया है नवाबगंज के नाम से मशहूर जिला मुख्यालय की विधानसभा सीट पर 10 वर्षों से समाजवादी पार्टी का कब्जा है लेकिन इस बार सुरेश यादव धर्मराज को यहां से कड़ी चुनौती मिल रही है ।

एक तरफ तो भाजपा ने मौर्य समाज के अरविंद मौर्या को प्रत्याशी बनाकर मतदाताओं को संदेश देने का प्रयास किया है वहीं दूसरी तरफ बहुजन समाज पार्टी ने क्षेत्र के लोकप्रिय चिकित्सक डॉ विवेक सिंह वर्मा को प्रत्याशी बनाकर चुनावी संग्राम में मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई है।

डॉ विवेक सिंह वर्मा कई वर्षों से लोकप्रिय नेत्र चिकित्सक के रुप में कार्य कर रहे हैं । शहर के आवास विकास कालोनी स्थित उनके विजयलक्ष्मी आई हॉस्पिटल में बड़ी संख्या में गरीब मरीजों की भीड़ लगी रहती है ।

बेहद कम खर्च में डॉक्टर विवेक सिंह वर्मा गरीब मरीजों का बेहतर इलाज करने के लिए जाने जाते हैं चुनावी महासमर में हर प्रत्याशी ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं तक अपनी बात पहुंचाने में जुटा हुआ है।

ज्यादातर राजनीतिज्ञ सुबह में जनसंपर्क लिए निकल पड़ते हैं वही डॉक्टर विवेक वर्मा सुबह 4:00 बजे से ही अस्पताल में भर्ती मरीजों की ऑपरेशन और इलाज में जुट जाते हैं।

डॉक्टर वर्मा के अनुसार वह प्रतिदिन 50 से अधिक भर्ती मरीजो के आंखों के ऑपरेशन करते हैं उसके बाद opd में दोपहर तक बैठते और सैकड़ों मरीजों को देखते हैं सभी मरीजों को संतुष्ट करने के बाद ही वह क्षेत्र में जनसंपर्क और चुनाव प्रचार करने निकलते हैं ।

डॉक्टर वर्मा का कहना है कि उनके लिए चुनावी फायदे से ज्यादा महत्वपूर्ण है गरीब मरीजों की सेवा yuका कार्य जिसे वह दर्शकों से करते आ रहे हैं।

द इंडियन ओपिनियन
बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.