प्रयागराज में निकाली गई महंत नरेंद्र गिरि की अंतिम यात्रा, भारी भक्त जुटे, लोगों ने दी श्रद्धांजलि।

प्रयागराज : अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी मौत के बाद आज उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई। अंतिम यात्रा के पहले सुबह उनके पार्थिव शरीर को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाया गया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दम घुटने और फांसी से मौत का कारण बताया जा रहा है। पोस्टमॉर्टम के बाद महंत नरेंद्र गिरी के पार्थिव शरीर को बाघम्बरी मठ लाया गया जहाँ से उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई।

नरेंद्र गिरी की अंतिम यात्रा को संगम ले जाया गया जहाँ उन्हें गंगा स्नान कराने के बाद वापस उनके पार्थिव शरीर को मठ लाया जाएगा।

इसी मठ में नरेंद्र गिरी को पूरे विधि विधान के साथ भू समाधि भी दी जाएगी। महंत नरेंद्र गिरी की अंतिम यात्रा में उनके भक्तों और साधु संतों ने उन्हें नम आंखों से श्रद्धांजलि दी और अपने गुरु के अंतिम दर्शन किये।

बता दे कि अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की संदिग्ध हालात में मौत हुई और उनका शव कमरे में लटकता पाया गया था। उनकी मौत के बाद पुलिस को सुसाइड नोट भी मिला था जिसमे उनकी मौत का कारण उनके शिष्य महंत आनंद गिरी और दो अन्य लोगो को बताया गया था। सुसाइड नोट मिलने के बाद ही नरेंद्र गिरी के शिष्य आनंद गिरी और दो अन्य लोगो को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया था। महंत की मौत के मामले में एसआईटी टीम भी गठित कर दी गयी है जो इस पूरे मामले की हर सम्भव बिंदु पर जांच करेगी।

रिपोर्ट – मनीष वर्मा , प्रयागराज

Leave a Reply

Your email address will not be published.