बलरामपुर :- अपराधी और पुलिस के बीच मुठभेड़, अस्पताल में करवाया गया भर्ती।

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में पुलिस और गोवध अधिनियम के एक आरोपी के बीच देर रात मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में दोनों तरफ से फायरिंग हुई। मुठभेड़ के दौरान पुलिस की गोली से बदमाश घायल हो गया। गोली बदमाश के पैर में लगी है। घायल बदमाश को पुलिस ने गिरफ्तार करके उसे संयुक्त जिला चिकित्सालय पहुंचाया गया। जहां इलाज के उपरांत उसे कोर्ट भेज दिया गया।

पुलिस के मुताबिक थाना पचपेड़वा को यह सूचना मिली थी कि गोवध अधिनियम में वांछित चल रहा कल्लू उर्फ अब्बास थाना क्षेत्र में ही मौजूद है और रात के वक्त भागने की फिराक में है। इस बात की सूचना मिलते ही पचपेड़वा थाना व गैंसड़ी कोतवाली पुलिस ने सघन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया। भाथर रेलवे क्रॉसिंग के निकट एक संदिग्ध व्यक्ति आता हुआ दिखाई दिया। जिस पर पुलिस टीम ने उसे रोकने का प्रयास किया।

बताया जाता है पुलिस टीम को देखकर वह भागने लगा और पुलिस ने जब उसे रोकने का प्रयास किया तो उसने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जिसपर पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। पुलिस फायरिंग में बदमाश के पैर में गोली लगी, जिससे वह घायल हो गया। घायल बदमाश को पुलिस ने घेर कर पकड़ लिया।

पुलिस पूछताछ के दौरान पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम कल्लू और अब्बास पुत्र रमजान अली बताया है।वह पचपेड़वा क्षेत्र के भाथर गांव का निवासी है और पचपेड़वा थाना में दर्ज मुकदमा संख्या 179/21 गोवध निवारण अधिनियम का वांछित अभियुक्त है। पुलिस ने गिरफ्तार अभियुक्त की तलाशी के दौरान उसके पास से एक अवैध तमंचा 315 बोर, एक जिंदा कारतूस व दो खाली कारतूस का खोखा बरामद किया है।

पूरे मामले पर अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्रा ने बताया की पुलिस ने यह बेहतर काम किया है। इसमें थानाध्यक्ष गैंसड़ी व थानाध्यक्ष पचपेड़वा के आपसी तालमेल के चलते, गोवध निवारण अधिनियम के आरोपी कल्लू को गिरफ्तार किया गया है।

हम आपको बताते चलें कि अभी तकरीबन एक हफ्ते पहले ही पचपेड़वा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले भाथर चौराहे पर कुछ ग्रामीणों ने गोवंश का वध करके उसका खाल उतारने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस की सूचना पर पहुंचे तमाम आला-अधिकारियों को बंद करवा दिया था। लेकिन अपराधी भाग गए थे, इसी क्रम में यह कार्रवाई की गई है।

रिपोर्ट – योगेंद्र विश्वनाथ

Leave a Reply

Your email address will not be published.