बलरामपुर :- जीत ही धर्म है, जीतो, किसी भी तरह से जीतो : नरेश उत्तम पटेल

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल आजकल सूबे की राजनीतिक यात्रा पर हैं। वह 29 अगस्त से 2 अक्टूबर तक प्रदेश के पूर्वी जिलों में जाकर ‘किसान नौजवान पटेल यात्रा’ का आयोजन कर रहे हैं। नरेश उत्तम पटेल ने अपने दो दिवसीय यात्रा के दौरान पहले दिन जिले के शिवपुरा बाजार व मझौली कन्या इण्टर कालेज गैसड़ी में जनसभा को संबोधित किया। आज उन्होंने रेहरा बाजार और उतरौला में लोगों से मुलाकात की और सियासी गणित बिठाने का प्रयास किया। कार्यकर्ताओं ने इस यात्रा का जगह-जगह स्वागत-सम्मान किया। इस दौरान सपा प्रदेश अध्यक्ष मोदी और योगी सरकार पर हमलावर रहे। उन्होंने किसानों, नौजवानों और महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर सरकार को आड़े हाथों लिया।

कार्यक्रम के दौरान मंच से सरकार पर हमला बोलते हुए प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि किसान बचाओ, कुटीर उद्योग बचाओ, रोजगार दो, किसान नौजवान पटेल यात्रा को जगह जगह जो सम्मान मिला उसके लिए मैं आप सभी लोगों को धन्यवाद देता हूँ और आशीर्वाद चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि ये लड़ाई बड़ी लड़ाई है। क्योंकि ये बड़ा प्रदेश है। यहां समस्याओं का अंबार है। देश की आज़ादी के 75 सालों में, जिन किसानों ने देश की आज़ादी की लड़ाई हमारे महापुरुष सरदार पटेल और महात्मा गांधी के नेतृत्व में लड़ी, देश के संपूर्ण किसानो ने अपनी जान की बाजी लगाकर हिंदुस्तान को आज़ाद करवाया। उस 75 साल की आजादी में अगर देश में कोई सबसे ज्यादा दुखी है तो वह हमारे प्रदेश का किसान, मजदूर, नौजवान और महिलाएं हैं।

नरेश उत्तम पटेल ने मंच से किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि 7 साल पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि हम किसानों की आय को दुगना करेंगे। लेकिन उन्होंने मक्कारी के अलावा कोई दूसरा काम नहीं किया। किसान जब अपने फसलों का सही मूल्य मांगता है। एमएसपी की गारंटी मांगता है। तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि हमें एमएसपी थी, एमएसपी है और एमएसपी रहेगी। लेकिन जब किसान दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर पिछले 1 साल से विरोध प्रदर्शन – धरना करता है तो उसकी आवाज को ना सुनने और दबाने का काम इस सरकार द्वारा किया जाता है।

उन्होंने कहा आज हमारे प्रदेश में गन्ना बहुत बड़े पैमाने पर पैदा होता है। गन्ने का बकाया मूल्य तकरीबन 12,000 करोड़ रुपए प्रदेश की सरकार नहीं दे रही। इस सरकार ने गन्ने के मूल्य में कोई इजाफा नहीं किया। जबकि अखिलेश यादव ने अपनी सरकार में ₹65 का इजाफा किया था। इतना पैसा बकाया है। लेकिन सरकार नहीं दे रही है। जब गन्ना किसान अपने पैसे की मांग करता है तो उसके ऊपर लाठियां बरसाई जाती हैं। उनके ऊपर गोली की वर्षा होती है। उनके ऊपर आंसू गैस के गोले छोड़े जाते हैं। उनके ऊपर पानी की बौछार की जाती है। उसके ऊपर फर्जी मुकदमें लादे जाते हैं और कहा जाता है कि किसान गुंडे हैं। यह है उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी का शासन।

नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने जो कहा था, वह नहीं किया। कहा था कि 100 दिन के भीतर महंगाई कम कर देंगे। 100 दिन के अंदर महंगाई कम करने का दावा करने वाली भाजपा ने 7 साल पहले ₹43 में मिलने वाले डीजल को आज ₹90 के ऊपर कर दिया और ?₹63 में बिकने वाले पेट्रोल को ₹107 में कर दिया। खाद की बोरी का दाम दुगना कर दिया और खाद की बोरी का वजन भी घटा दिया। भाजपा ने बिजली के मूल्य में बढ़ोतरी कर दी। भाजपा ने दवाओं के मूल्य में बेतहाशा वृद्धि कर दी। भारतीय जनता पार्टी ने पढ़ाई में फीस की वृद्धि कर दी। जो हमारे नेता मुलायम सिंह और अखिलेश यादव मुफ्त पढ़ाई, मुफ्त दवाई और मुफ्त सिंचाई देते थे। वह सब इस सरकार ने खत्म कर दिया।

उन्होंने कहा कि जब लागत बढ़ेगी मूल्य घटेगा तो होगा क्या? बुंदेलखंड में तमाम किसान आत्महत्या कर रहे हैं। आपके क्षेत्र में धान गेहूं गन्ना पैदा होता है। लेकिन एमएसपी किसानों को नहीं मिल रही है। इसी बात को लेकर हमारे किसान दिल्ली में धरना दे रहे हैं। लेकिन सरकार नहीं सुन रही है। धान-गेहूं 1200-1500 कुंतल बिक रहा है। लेकिन सरकार सो रही है।

नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि हमारे नेताओं ने हमें आश्वस्त किया है कि हम बलरामपुर और श्रावस्ती जिले की सभी 6 विधानसभा सीटें जीतकर आपको देंगे। हमारे नेता मुलायम सिंह यादव कहते हैं कि गीता में लिखा है कि जीत ही धर्म है। जीतो किसी भी तरह से जीतो और इन ज़ालिम लोगों की सरकार को उखाड़ कर फेंक दो। अपनी सरकार बनाओ और अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाओ।

रिपोर्ट – योगेंद्र त्रिपाठी, बलरामपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.