बलरामपुर :- प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 5750 लाभार्थियों को मिली नए घर की चाभी, खिले चेहरे से बोले : आभार मुख्यमंत्री जी!

केंद्र सरकार ने 2022 तक लक्ष्य रखा है कि वह देश के सभी बेघरों को आवास की सुविधा उपलब्ध करवाएंगी। उत्तर प्रदेश सरकार इस काम में केंद्र सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आज पूरे प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) व मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के वर्ष 2020-21 एवं 2021-22 के निर्मित 5 लाख 51 हजार आवासों के लाभार्थियों को आवास की चाभी उपलब्ध करवाई गई। जिसकी लागत तकरीबन 6637.72 करोड़ रुपए बताई जा रही है। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के माध्यम से निर्मित आवासों के चाभी वितरण का कार्यक्रम पूरे प्रदेश में आयोजित किया गया। तमाम जिलों के लाभार्थियों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल संवाद भी किया।

बलरामपुर जिले के प्रत्येक ब्लॉक में प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को चाबी वितरण/गृह प्रवेश कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विधायक व अधिकारियों द्वारा आवास योजना के लाभार्थियों को चाभी प्रदान किया गया। इस अवसर पर लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संवाद एवं संबोधन को वर्चुअली सुना।

नए घर की चाभी पाकर लाभार्थियों के चेहरे खिल उठे। सभी लाभार्थियों ने योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यों की तारीफ करते हुए योजना का लाभ बिना भेदभाव के दिए जाने की बात कही। लाभार्थियों ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हमें आवास मिला है, जिसका मुझे फायदा मिल रहा है। पहले हम फूस के घरों में रहा करते थे। बारिश और सर्दी के दिनों में खासी समस्या हुआ करती थी। लेकिन अब आवास मिल जाने के कारण यह समस्या दूर हो गई है।

परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास विभाग अनिल कुमार सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पूर्ण 5750 आवासों तथा मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत पूर्ण 62 आवासों के लाभार्थियों को चाभी वितरण किया गया है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी श्रुति द्वारा आवास योजना के लाभार्थियों को जिला कलेक्टर कार्यालय में चाभी वितरण किया गया। जिलाधिकारी ने इस दौरान लाभार्थियों से बात की और शौचालय, राशन कार्ड व निशुल्क राशन वितरण की सुविधा, आयुष्मान भारत, उज्जवला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन, पेंशन योजना आदि योजनाओं के लाभ के बारे में जानकारी हासिल की।

रिपोर्ट – योगेंद्र विश्वनाथ, बलरामपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.