बसपा कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन, मशहूर नेत्र चिकित्सक डॉ विवेक होंगे सदर विधानसभा के प्रत्याशी

बाराबंकी: देवा मेला ऑडिटोरियम में आज बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ता सम्मेलन में विशाल जनसमूह उमड़ा, कार्यक्रम की अध्यक्षता पूर्व मंत्री मुख्य सेक्टर प्रभारी धर्मवीर अशोक एवं संचालन मुख्य सेक्टर प्रभारी अजय गौतम ने किया।

मुख्य अतिथि नेता सदन विधान परिषद ,मुख्य सेक्टर प्रभारी दिनेश चंद्रा जी एवं अन्य अतिथियों को कार्यक्रम के संयोजक डॉक्टर विवेक वर्मा ने चुनाव चिन्ह हाथी का मोमेंटो देकर एवं कार्यकर्ताओं ने फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया।


मुख्य अतिथि दिनेश चंद्र ने कहा कि बीजेपी की सरकार से हर वर्ग परेशान है, बड़े पैमाने पर डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस में सरकार द्वारा की गई बेतहाशा मूल्यवृद्धि से मध्यम वर्गीय परिवार की महंगाई ने कमर तोड़ दिया है। महंगाई के कारण गरीबों के सामने रोजी-रोटी की समस्या पैदा हो गई है। किसानों के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानून से देश का किसान आंदोलित है लेकिन सरकार मौन धारण किए हुए है, प्रदेश एवं केंद्र की बीजेपी सरकार ने उद्योगपतियों धन्ना सेठों पूजी पतियों के सामने किसानों बेरोजगारों छात्रों मजदूरों को लाचार साबित कर दिया है। आज किसान अपनी फसल का वाजिब मूल के लिए बेरोजगार रोजगार के लिए छात्र शिक्षा के लिए गरीब मजदूरी के लिए भटक रहा है सरकार में बैठे लोग सरकारी खजाने को लूटने में लगे। बीजेपी राज्य में बड़े पैमाने पर विशेष रूप से अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़े समाज के साथ-साथ सर्व समाज के लोगों पर अत्याचार गुंडे माफिया सरकार के संरक्षण में कर रहे हैं। गरीबों पीड़ितों की थानों में पुलिस रिपोर्ट दर्ज नहीं करती है,
बहुजन समाज पार्टी की सरकार में कानून के द्वारा कानून का राज कायम था गुंडे माफिया जेल की सलाखों में थे या तो उत्तर प्रदेश छोड़ कर चले गए थे, सर्व समाज के लोगों का मान सम्मान स्वाभिमान बसपा में ही सुरक्षित रहा है। लाखों बेरोजगारों को रोजगार देकर ,उनको खुशहाल बनाने ,प्रदेश को अस्पताल, कॉलेज, देकर सबको शिक्षा, सुरक्षा, सम्मान ,बहुजन समाज पार्टी की सरकार ने दिया है। सपा एवं भाजपा के गुंडाराज से प्रदेश की जनता अब पांचवी बार उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बहन जी को बनाने का संकल्प ले चुकी है, उत्तर प्रदेश से बीजेपी और सपा का सफाया होगा 2022 में पूर्ण बहुमत से बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनेगी, तभी गरीबों, किसानों ,छात्रों, बेरोजगारों, अधिकारियों, कर्मचारियों, अधिवक्ताओं, को पूर्ण मान सम्मान मिलना निश्चित होगा।

श्री चंद्र ने जनपद बाराबंकी के मशहूर नेत्र चिकित्सक, विजयलक्ष्मी नेत्र हॉस्पिटल के प्रबंधक डॉ विवेक सिंह वर्मा को 2022 में होने वाला विधानसभा के आम चुनाव में विधानसभा क्षेत्र 268 बाराबंकी से बसपा सुप्रीमो मायावती के निर्देश पर प्रत्याशी प्रभारी घोषित किया है। डॉक्टर विवेक वर्मा के प्रत्याशी घोषित होते ही पार्टी समर्थकों कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर दौड़ गई और सभी ने डॉक्टर वर्मा को फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया।

अंत में डॉ विवेक वर्मा ने उमड़े विशाल जनसमूह को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि बहन जी के सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय की विचारधारा से प्रभावित होकर समाज सेवा के लिए राजनीति में कदम रखा है और पार्टी ने जो जिम्मेदारी मेरे ऊपर सौंपी है उसको पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ रात दिन मेहनत करके सर्व समाज के बीच में भाईचारा कायम करके पूरा करने का प्रयास करूंगा, उन्होंने यह भी कहा कि जिन परिवारों के सदस्यों की कोरोनाकाल में मृत हो गई है मैं उन परिवारों निशुल्क सेवा इलाज करूंगा।

कार्यकर्ता सम्मेलन को प्रमुख रूप से मुख्य सेक्टर प्रभारी पूर्व मंत्री धर्मवीर अशोक, मुख्य सेक्टर प्रभारी मोहम्मद असद, दिलीप कुमार विमल, रामगोपाल कोरी, प्रभारी प्रत्याशी राम किशोर शुक्ला, प्रभारी कुर्सी जय जैसिराम वर्मा,विमल गौतम, प्रमोद गौतम, बराती लाल गौतम, रतन प्रकाश वर्मा ,पृथ्वी पाल गौतम, केके रावत, जिला अध्यक्ष अनिल गौतम, पूर्व जिला अध्यक्ष सुरेश चंद गौतम, विजय कुमार,आर पी गौतम एडवोकेट,अरविंद यादव, संतराम गौतम एडवोकेट, विधानसभा अध्यक्ष सदर प्रेम प्रकाश गौतम, पंडित राम प्रताप मिश्रा, आरडी राव, उपेंद्र सिंह पटेल, शाहिद अली मंसूरी, बैजनाथ रावत, आसिफ खान, मोहम्मद रिजवान ,प्रदीप गौतम, राजेश गौतम डीडीसी, रमेश भारती, दिग्विजय सिंह गौतम, मनीष गौतम, विक्रम गौतम, दिनेश गौतम, सत्यनाम निषाद, तुलसी प्रसाद, नीरज वर्मा, जितेंद्र धानुक, जितेंद्र वर्मा, राजेश वर्मा, मोहम्मद अनीस, हाजी अरमान वारसी ,मूलचंद ,सोनेलाल गौतम, सूरज रावत, विक्रम सिद्धार्थ, श्याम बिहारी वर्मा, बलदेव प्रसाद गौतम, अयोध्या प्रसाद गौतम, प्रसाद सहित हजारों की संख्या में मौजूद रहे।

रिपोर्ट- नितेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published.