बाराबंकी: राजकुमार हत्याकाण्ड का खुलासा हुआ, 2 गिरफ्तार।

बाराबंकी। कुछ दिनों पहले वादी महेश प्रसाद वर्मा पुत्र बैजनाथ वर्मा निवासी गुमवा खेड़ा बहरौली थाना नगराम जनपद लखनऊ ने थाना कोठी बाराबंकी पर सूचना दिया कि मेरा पुत्र राजकुमार वर्मा(राज) जमीन के पैसे लेने के लिए बाराबंकी के थाना कोठी निवासी संजय वर्मा पुत्र शिवशंकर के पास गया था लेकिन घर वापस नहीं लौटा तथा उसका शव थाना बदोसराय क्षेत्र में मिला। मुझे पूर्ण विश्वास है कि मेरे पुत्र राजकुमार की हत्या संजय वर्मा अपने मित्र पंकज वर्मा आदि के साथ करके शव को थाना बदोसराय क्षेत्र में फेंक दिया है । इस सूचना पर थाना कोठी में मु0अ0सं0-299/2021 धारा 302/201 भादवि पंजीकृत किया गया।

उक्त के क्रम में पुलिस अधीक्षक बाराबंकी यमुना प्रसाद द्वारा घटना का तत्काल संज्ञान लेकर सफल अनावरण करने व अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी मनोज कुमार पाण्डेय के निर्देशन, क्षेत्राधिकारी हैदरगढ़ नवीन सिंह के पर्यवेक्षण में थाना कोठी पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त संजय वर्मा पुत्र शिवशंकर निवासी लखनापुर थाना कोठी जनपद बाराबंकी व रामप्रसाद पुत्र राममनोहर रावत निवासी लखनापुर थाना कोठी जनपद बाराबंकी को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तगण के निशांदेही पर मृतक की मोटर साइकिल के पुर्जे, घटना में प्रयुक्त कार-UP 41 K 5333 मारुती जेन व 01 प्लास्टिक की रस्सी बरामद किया गया। प्रकाश में आये अभियुक्तगण रिंकू पुत्र ओमप्रकाश वर्मा ग्राम श्यामनगर थाना असन्द्रा जनपद बाराबंकी व दिलीप रावत पुत्र बिन्द्रा प्रसाद निवासी ग्राम श्यामनगर थाना असन्द्रा जनपद बाराबंकी की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम का गठन कर प्रयास किया जा रहा है।

इसी के क्रम में पूछताछ व साक्ष्य संकलन से प्रकाश में आया कि मृतक राजकुमार वर्मा उर्फ राज ने अभियुक्त संजय वर्मा से 7-8 माह पूर्व 11 बीघा जमीन 10 लाख रूपये में खरीदा था और दोनों के बीच में सहमति हुई थी कि एक साल बाद संजय वर्मा अपनी बेची हुई सारी जमीन मृतक राजकुमार को 20 लाख रूपये देकर वापस ले लेगा । इसी बीच मृतक राजकुमार द्वारा कस्बा कोठी निवासी पंकज वर्मा से 01 बीघा खेत करीब 05 लाख रूपये में खरीदा गया और 03 लाख रूपये पंकज के खाते में आरटीजीएस कर दिया था तथा 02 लाख रूपये देकर रजिस्ट्री होनी थी । 02 लाख रूपये मृतक राजकुमार के पास नहीं था तो संजय वर्मा से 02 लाख रूपये देने हेतु कहा तथा यह भी कहा कि अगर 02 लाख रूपये नहीं दोगे तो वह उस जमीन को बेच देगा। घटना के एक दिन पूर्व मृतक राजकुमार व उसके साथी विभव 02 लाख रूपये के लिये संजय वर्मा से मिले तो संजय वर्मा ने दिन भर मृतक राजकुमार व उसका साथी विभव को इधर-उधर घूमाता रहा और अगले दिन पैसे देने के लिए कहा तथा यह भी कहा कि पंकज वर्मा के पास मेरा चेकबुक है वहीं से चेक ले लेना। घटना के दिन मृतक राजकुमार सुबह करीब 8.00 बजे पंकज वर्मा के घर जाकर 03 ब्लैंक चेक लिया और 02 लाख रुपया लेने हेतु अभियुक्त संजय वर्मा के घर गया। अभियुक्त संजय वर्मा ने मृतक राजकुमार से कहा कि तीन बजे तक उसके खाते में पैसा आ जायेगा, उसके बाद चेक लगाकर पैसे निकल लीजियेगा। 3-4 बजे के बीच मृतक व संजय वर्मा बैंक आफ इण्डिया सिद्धौर गये खाता चेक किया गया परन्तु खाते में पैसा नहीं था। पुन: मृतक राजकुमार द्वारा पैसा के लिए दबाव बनाया गया तो संजय वर्मा ने पैसा दरियाबाद में देने की बात बताकर मृतक राजकुमार, रिंकू व दिलीप रावत को अपनी गाड़ी मारुती जेन UP 41 K 5333 में बैठा लिया। मृतक राजकुमार की मोटर साइकिल को राम प्रसाद को दे दिया और कहा कि इसको ठिकाने लगा देना। उसके बाद अभियुक्त संजय वर्मा, रिंकू व दिलीप रावत ने कोटवा सडक होते हुये बदोसराय थानान्तर्गत कसरैला डीह के पास राजकुमार को प्लास्टिक की रस्सी से गला कसकर हत्या कर दी और शव को झाड़ियों के बीच में फेक दिया । इधर अभियुक्त राम प्रसाद ने मृतक राजकुमार की मोटर साइकिल के कलपुर्जे अलग-अलग कर रारी नदी में डाल दिया, जिसे पुलिस द्वारा राम प्रसाद की निशांदेही पर बरामद किया गया।

पुलिस टीम में थानाध्यक्ष मुन्ना कुमार, उ०नि० सुहेल खां, उ०नि० रमेशचन्द्र यादव, आरक्षी शैलेश चौधरी, आरक्षी मनीष यादव, आरक्षी आशीष कुमार थाना कोठी बाराबंकी शामिल रहे।

रिपोर्ट-मनोज मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published.