बाराबंकी: राज्यमंत्री ने किया धनुष यज्ञ मेला का उद्घाटन!

सपा,बसपा, कांग्रेस के नेता जो अयोध्या और हिंदुओं की आस्था के केंद्र बिन्दु भगवान श्रीराम जी के अस्तित्व पर प्रश्न चिन्ह लगाने वाले कारसेवकों पर बर्बरतापूर्ण गोलियां चलवाकर बेकसूर राम भक्तों की हत्या करवाने, हिन्दू व सनातन संस्कृति से कोसों दूरी बनाने वाले आज धोती व कुर्ता के ऊपर जनेऊ पहनकर व माथे पर चन्दन का लेप करके प्रभु श्रीरामजी, श्रीकृष्णजी और श्री महादेवजी के पुजारी बनने का ढोंग कर रहे हैं, देश की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में 500 वर्षों से चले आ रहे श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन को समाप्त करके अयोध्या में प्रभु श्रीराम जी का भव्य ऐतिहासिक मन्दिर का निर्माण हो रहा हैं, कांवर यात्रा को अब उ०प्र० में कोई रोक नही सकता हैं, बाराबंकी कैराना,आजमगढ़, रामनगर, मुजफ्फरनगर जैसे जिलों में जहां पर एक समुदाय विशेष के लोगों को सपा,बसपा कांग्रेस की सरकारे संरक्षण देती थी आज भाजपा सरकार में वहां हिंदुओं का पलायन बन्द हो गया है लोग अपने घरों में वापस आ गये हैं यह सम्भव तभी हुआ जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में विकास कार्यों के परिणामस्वरूप 2017 में उ०प्र० में प्रचण्ड बहुमत के साथ भाजपा सरकार बनी।

उक्त बातें आज यूपीसीएलडीएफ के राज्यमंत्री स्तर के चेयरमैन एवं बाराबंकी जिले में भाजपा पालक वीरेन्द्र कुमार तिवारी ने जिले में देवा में पींड गाँव श्रीजानकीनाथ मंदिर परिसर में पं०गयादीन महाराज द्वारा स्थापित 177 वर्ष पौराणिक मेला धनुषयज्ञ का उदघाटन करने दौरान कहीं।

उन्होंने कहा कि उ०प्र० में अयोध्या, काशी, मथुरा के साथ प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थापित पौराणिक मन्दिरो व देव स्थानों का विकास किया जा रहा हैं।

श्री तिवारी ने कहा कि सबका साथ,सबका विकास, सबका विश्वास के संकल्प पर भाजपा सरकार में विकास किया जा रहा हैं, आने वाले 2022 के विधानसभा चुनाव में पुनः प्रचण्ड बहुमत के उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने जा रही है। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्षा राजरानी रावत, भाजपा जिला अध्यक्ष शशांक कुसमेश, जिला उपाध्यक्ष प्रमोद तिवारी व मनोज वर्मा, जिला महामंत्री गुरुशरण लोधी, मेला कमेटी अध्यक्ष अनिल मिश्रा, भाजपा देवा मण्डल महामंत्री व मेला आयोजक राम लखन मिश्रा, रवि कुमार पूर्व प्रधान,सीताकांत मिश्र, बाबुल मिश्र, रवि मिश्र, अजय सिंह सहित स्थानीय नागरिक उपस्थित थे।

ब्यूरो रिपोर्ट बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.