बूथ अध्यक्ष सम्मेलन से होगा विजय का शंखनाद: प्रदेश महामंत्री।

◆जैदपुर और बाराबंकी सदर विधानसभा के पदाधिकारियों से मिले प्रदेश महामंत्री ,भरा जोश।

◆समन्वय और संवाद कायम करने की दी सलाह।

बाराबंकी। भाजपा के प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल ने कहा कि 25 नवम्बर को सीतापुर में होने वाले बूथ अध्यक्ष सम्मेलन से विधानसभा चुनाव में विजय का शंखनाद होगा , जहाँ अवध क्षेत्र के चालीस हजार से अधिक बूथ अध्यक्ष नैमिषारण्य की पवित्र धरती से पार्टी की ऐतिहासिक जीत का संकल्प लेंगे।प्रवास पर पहुँचे प्रदेश महामंत्री मंगलवार को जैदपुर और सदर विधानसभा के सभी पदाधिकारियों को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा प्रत्येक काम के लिए  एक कार्यकर्ता और प्रत्येक कार्यकर्ता के लिए एक काम का निर्धारण जितनी गम्भीरता के साथ किया जाएगा।

बताया कि मतदाता सूची के प्रत्येक पन्नो पर भाजपा कैसे जीतेगी इसकी चिंता पन्ना प्रमुखों को करनी है।प्रधानमंत्री मोदी की गरीब कल्याण योजनाओं को घर-घर पहुँचाने के लिए कार्यकर्ताओं को पुनः जुटना होगा।प्रदेश की योगी सरकार के कानून राज एवं कोरोना महामारी के दौरान किये गए प्रबन्धन को भी जनता तक पहुँचाना है।समन्वय और जीवंत संवाद को चुनाव में बेहद अहम बताया।हौसला बढ़ाते हुए कहा कि साढ़े तीन करोड़ सदस्यों,समर्पित कार्यकर्ता और मोदी-योगी सरकार के जनकल्याणकारी कार्यो की बदौलत भाजपा प्रदेश की सत्ता पर दोबारा काबिज होगी।

विपक्ष पर प्रहार करते हुए कहा कि सपा बसपा और कांग्रेस शासन काल में व्याप्त गुंडाराज,भ्रष्टाचार , भाई-भतीजावाद एवं जातिवादी राजनीति  का  प्रदेश की जनता सफाया कर देगी।कहा कि मतदाता पुनरीक्षण एवं सदस्यता अभियान की सफलता भाजपा की ऐतिहासिक जीत का मार्ग प्रशस्त करेगी।इसके पूर्व जिला अध्यक्ष शशांक कुसुमेश ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।जैदपुर विधानसभा के प्रभारी रघुनन्दन चौरसिया एवं सदर के रोहित भारती ने आभार ज्ञापित किया।

सन्चालन संदीप गुप्ता ने किया।इस अवसर पर  सांसद उपेंद्र रावत,हरगोविंद सिंह, प्रमोद तिवारी, उर्मिला रावत, अमरीश रावत, विजय आनंद बाजपेई,हर्षित वर्मा, आशुतोष अवस्थी,ब्लॉक प्रमुख रवि रावत, उमेश मिश्रा ,प्रवीण सिंह सिसौदिया,संजय अवस्थी,विनीत वर्मा, अरुण वर्मा ,राकेश पटेल, संजीव वर्मा,परसुराम रावत, करुणेश वर्मा, गुरुशरण लोधी,भरत लाल सिंह सहित सभी मण्डल प्रभारी,संयोजक एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

रिपोर्ट- सरदार परमजीत सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published.