मास्क, दूरी, सैनिटाइजेशन फिर से बहुत जरूरी! अफ्रीकी वेरिएंट बहुत खतरनाक, केंद्र ने राज्यों को चेताया!

कोरोना के नए कई गुना अधिक ताकतवर और खतरनाक वेरिएंट ने पूरी दुनिया को चिंता में डाल दिया है फिलहाल दुनिया के 3 देशों में इस वैरीअंट के मरीजों की पुष्टि हो गई है। इस वैरीअंट का स्पाइक प्रोटीन अलग बताया जा रहा है और इसके म्यूटेशन की गति और विधि भी अलग है इसलिए यह किसी भी व्यक्ति को भी चकमा देकर मरीज को भारी नुकसान पहुंचा सकता है।

दुनिया के ज्यादातर देशों के बीच जहां हवाई उड़ान अब सामान्य हो रही है इसलिए करोना के इस कई गुना अधिक जान लेवा वैरीअंट ने दुनिया के सभी देशो को और ज्यादा परेशान कर दिया है विदेशों से आवागमन के बीच इस नए खतरनाक वैरीअंट के तेजी से दुनिया के अलग-अलग क्षेत्रों में फैलने का खतरा भी ज्यादा बढ़ गया है ।

भारत सरकार ने भी सभी राज्य सरकारों को पत्र लिखकर चेतावनी जारी की है और विदेशों से आने वाले यात्रियों की गंभीरता से जांच करने और उन पर नजर रखने की हिदायत दी है । सरकार का मानना है कि यदि कोरोना का नया वेरिएंट किसी भी संक्रामक मरीज के जरिए दूसरे मरीज लोगों में फैल गया तो उसे रोकना मुश्किल होगा क्योंकि यह बहुत तेजी से म्यूटेशन बनाता है।

फिलहाल दक्षिण अफ्रीका में पाए गए करोना के बेहद खतरनाक वैरीअंट को वैज्ञानिकों ने B.1.1.529 नाम दिया है ।

केंद्र सरकार के सूत्रों के मुताबिक ने सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को कोरोना कोरोनावायरस को लेकर गंभीरता बरतने के निर्देश दिए गए हैं और आम जनता से भी सोशल डिस्टेंसिंग मास्क और सेनेटाइज़ेशन को लेकर पूरी सतर्कता बरतने की अपील की गई है।

फिलहाल कोरोना के नए वेरिएंट ने 3 देशों में 26 मरीजों को अपना शिकार बनाया है बोत्सवाना दक्षिण अफ्रीका और हांगकांग में इस नए वेरिएंट को लेकर वैज्ञानिकों में हड़कंप मचा हुआ है क्योंकि यह वैरीअंट वैक्सीन प्रतिरोधी बताया जा रहा है। वैक्सीन की खुराक लिए हुए लोगों को भी नुकसान पहुंचा स क ता है।

इसलिए कोरोनावायरस के हमले से बचने के लिए एक बार फिर लोगों के सामने सावधानी सामाजिक दूरी मास्क व सैनिटाइजेशन का ही उपाय बचा है।

नई दिल्ली, द इंडियन ओपिनियन

Leave a Reply

Your email address will not be published.