मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरू गोरखनाथ मंदिर से समाजवादी पार्टी पर साधा निशाना।

गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर में शुक्रवार को योगी ने कहा कि हमारा दायित्व है कि अपने मान बिंदुओं की रक्षा के लिए आगे आएं। आज जनता ने यशस्वी नेतृत्व दिया है तो पूरी दुनिया में देश का डंका बज रहा है। पहले की सरकारों में आतंकवादियों के मुकदमे वापस होते थे, लेकिन आज आतंकियों के महिमामंडन की हिम्मत कोई नहीं कर सकता।
योगी गोरखनाथ मंदिर में ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ की 52वीं व अवैद्यनाथ की 7वीं पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में आए थे। सभा की अध्यक्षता करते हुए योगी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में मिली सफलता से सभी वाकिफ हैं।
उनके मार्गदर्शन में गृह मंत्री ने दृढ़ता से कश्मीर से धारा-370 को समाप्त किया। पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में प्रताड़ित हिंदुओं व सिखों को कानून बनाकर नागरिकता दी। ये सब हमारे हैं। उन्होंने कहा कि देश के बाहर संकट में फंसे भारतीयों का इस सरकार ने हाथ फैलाकर स्वागत किया। पहले की सरकारें ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा पातीं।
मुख्यमंत्री ने अयोध्या में बन रहे मंदिर, अयोध्या धाम के विकास व यहां आयोजित होने वाले दीपोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि अब अयोध्या सप्तपुरियों में पहली पुरी बन गई है। वहां के दीपोत्सव में एक-एक संत की भावना परिलक्षित होती है। जो संत अब भौतिक शरीर मे नहीं हैं, वह भी सूक्ष्म शरीर से इसे देखकर प्रसन्न होते हैं।
मुख्यमंत्री ने अपने दादा गुरु ब्रह्मलीन महंत दिग्विजयनाथ व ब्रह्मलीन महंत अवैद्यनाथ को नमन करते हुए कहा कि ब्रह्मलीन महंत द्वय ने संपूर्ण धर्म व समाज के सामने मूल्यों व आदर्शों की स्थापना की। 50 वर्ष पूर्व जिसने भी गोरखपुर और गोरक्षपीठ को देखा होगा उसे यह पता है कि आज यहां जो कुछ भी है वह उन्हीं गुरुजनों की प्रेरणा व आशीर्वाद से है। महंत दिग्विजयनाथ ने जो नींव रखी, महंत अवैद्यनाथ ने उसे भवन का रूप दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि साठ के दशक में ही गोरक्षपीठ ने आयुर्वेद को बढ़ावा देने की दिशा में कदम बढ़ा दिया था। मूलतः यह पीठ योग पीठ है। आज कोरोनाकाल में पूरी दुनिया ने आयुष और योग की ताकत को पहचाना है। आज 21 जून को विश्व योग दिवस मनाया जाने लगा है।
सीएम ने उनसे मिलने आए अमेरिका के एक व्यक्ति से हुई बातचीत का भी उल्लेख किया। बताया कि उक्त व्यक्ति के लिए जब पानी आया तो उन्होंने उसमें दो बूंद तुलसी अर्क मिलाया। पूछने पर उन्होंने कहा कि अमेरिका भी अब तुलसी की ताकत को पहचानता है। सीएम ने कहा कि कोरोना काल में न्यूयॉर्क में हल्दी का पानी पीने के लिए लाइन लगती है।

रिपोर्ट – आर डी अवस्थी

Leave a Reply

Your email address will not be published.