यूटा ने शिक्षक समस्याओं को लेकर लेखाधिकारी को सौपा ज्ञापन।

बाराबंकी: यूनाइटेड टीचर्स एसोसिएशन (यूटा) ने जिले में शिक्षकों की समस्याओं को लेकर वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक शिक्षा) को समस्याओं के त्वरित निराकरण कराए जाने के सम्बन्ध में ज्ञापन सौपा। ज्ञापन में कतिपय विकासखंड के जीपीएफ पासबुक जो अद्यतन नही हुए है उनको समयबद्ध अद्यतन कराये जाने, एनपीएस योजना से आच्छादित शिक्षकों की एनपीएस पासबुक का बनवाने, होम लोन एवं अन्य के आधार पर जिन शिक्षकों का पूर्व के वर्षों में आयकर शून्य रहा है के वेतन से अग्रिम आयकर की कटौती सितंबर माह के वेतन से ही बंद किये जाने की बात कही गयी।

इसके अतिरिक्त अवगत कराया गया कि अवशेष वेतन के संबंध में कार्यालय में प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों की प्राप्ति तिथि के क्रम में भुगतान कराने की व्यवस्था की जाए जिससे पारदर्शिता बनी रहे। गत वर्ष बड़ी संख्या में शिक्षकों के वेतन से अधिक आयकर की कटौती गलत तरीके से की गई थी। वर्तमान में बड़ी संख्या में शिक्षकों का विवरण फॉर्म 26as पर त्रुटिपूर्ण दिख रहा है । 26as को तत्काल सही कराने हेतु संबंधित को निर्देशित किये जाने की बात करते हुए, कोरोना महामारी एवं अन्य कारणों से दिवंगत हुए शिक्षकों के जीपीएफ भुगतान में कार्यालय के कार्मिकों द्वारा अनावश्यक रूप से आपत्तियां लगाकर भुगतान को लंबित रखा जा रहा है ऐसे प्रकरणों का तत्काल निराकरण कराते हुए भुगतान कराया जाने की बात की गयी।

लेखाधिकारी ने संघ की मांग पर गंभीरता से विचार करते हुए आवश्यक कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने में यूटा जिलाध्यक्ष आशुतोष कुमार, महामंत्री सत्येन्द्र भास्कर, कोषाध्यक्ष पूर्णेश प्रताप सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र वर्मा, जिला संगठन मंत्री दीपक मिश्र, शाकिब किदवई, आशीष शुक्ल, राकेश कौल, संग्राम सिंह, सुशील सैनी आदि पदाधिकारी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट- शोभित मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published.