सरकार के 4.5 साल बीतने के बाद योगी सरकार में 7 नए चेहरों को मंत्री बनाने का दांव!

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का विधानसभा चुनाव से पहले मंत्रिमंडल विस्तार हो गया है एक कैबिनेट और 6 राज्यमंत्री समेत कुल 7 मंत्रियों को मंत्रिमंडल में जगह मिली है। ब्राह्मण चेहरे के रूप में जितिन प्रसाद ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली पर वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी पूर्व आईएएस अरविंद कुमार शर्मा का नाम जो सबसे ज्यादा चर्चा में था उनको कोई जगह मंत्रिमंडल में नहीं मिली।

योगी मंत्रिमंडल में कांग्रेस छोड़ करके बीजेपी में आए जितिन प्रसाद को ईनाम मिला है और कैबिनेट मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है वहीं बरेली के बेहड़ी से विधायक छत्रपाल गंगवार गाजीपुर से विधायक संगीता बिंद बलरामपुर से विधायक पलटू राम वेस्ट यूपी के प्रभावी नेता एमएलसी धर्मवीर प्रजापति ओबरा से विधायक संजीव कुमार गौड़ मेरठ के हस्तिनापुर से विधायक दिनेश खटिक ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राष्ट्रगान के बाद सभी को मंत्री पद की शपथ दिलाई और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम में शामिल हुए। मंत्री पद की शपथ के बाद सभी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल का अभिनंदन किया है।

वहीं चुनाव से पहले मंत्रिमंडल विस्तार को बीजेपी के बड़े दाव के रूप में देखा जा रहा है एससी और ओबीसी वोट बैंक को साधने के लिए बीजेपी ने पूरा जोर लगा दिया है और मंत्रिमंडल विस्तार में जगह देकर ये स्पष्ट भी हो गया है। उत्तर प्रदेश बीजेपी के लिए कितना महत्वपूर्ण है ये सबको पता है इसलिए सभी जातियों को साधने में बीजेपी लगी हुई है। बंगाल चुनाव की गलती को किसी भी सूरत में दोबारा दोहराना नहीं चाहती है और यूपी में चुनाव जीत करके विपक्ष को भी जवाब देना चाहती है।

वहीं आपको बताते चले सुबह सियासी गलियारों में संजय निषाद का नाम और अरविंद कुमार शर्मा का नाम सबसे ज्यादा उछल रहा था पर संजय निषाद जो अभी अभी गठबंधन का एलान किए हैं वो अब अंदरखाने क्या करते हैं फिलहाल योगी सरकार ने मंत्रिमंडल विस्तार करके अपना दाव खेल दिया है।

ब्यूरो रिपोर्ट इंडियन ओपिनियन

Leave a Reply

Your email address will not be published.