सीएम योगी का अखिलेश से सवाल, “अब्बाजान” कैसे हुआ असंसदीय शब्द ?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजनीति में आगामी चुनाव को देखते हुए सरगर्मियों इस कदर हावी हो चुकी है जिसका अंदाजा राजनेताओं के बयानों और उनपर आने वाली प्रतिक्रियाओं से लगाया जा सकता है। ऐसा ही कुछ मामला वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के मध्य दिखायी पड़ रहा है और इस जुबानी जंग का मुद्दा बना है “अब्बाजान”

दरअसल एक कार्यक्रम में सीएम योगी ने अखिलेश यादव से अब्बाजान शब्द का प्रयोग कर दिया जिसके बाद अखिलेश ने उन्हें संयमित भाषा का प्रयोग करने तक कि नसीहत दे डाली जिसके बाद से यह जुबानी जंग बढ़ती ही जा रही है और दिन प्रतिदिन बयानों का दौर जारी है।

इसी मामले को लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर अखिलेश पर निशाना साधा और कहा कि ‘अब्बाजान’ कोई असंसदीय शब्द नहीं है और मुस्लिम वोट की चाहत रखने वाले लोगों को आखिर इस शब्द से परहेज क्यों है।

मुख्यमंत्री ने ‘अब्बाजान’ शब्द के इस्तेमाल पर समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव की आपत्ति के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया। उन्हें मुस्लिम वोट तो चाहिए पर इस शब्द से परहेज क्यों है. क्या यह असंसदीय शब्द है? नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं है और किसी को भी इससे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

हालांकि योगी के इस बयान पर अभी सपा की तरफ से आधिकारिक प्रतिक्रिया तो नही सामने आयी है लेकिन योगी के इस जवाब से मुस्लिम समाज कही न कही सोचने को अवश्य मजबूर हो गया है कि ‘अब्बाजान’ शब्द से इतनी तकलीफ का कारण क्या है।

रिपोर्ट- नितेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published.