हरदोई:- तिरंगे में लिपट कर शहीद का पार्थिव शरीर पहुंचा गांव।

हरदोई जिले के पाली थाना क्षेत्र भरखनी गांव का लाल हुआ शहीद जो देश के पंजाब प्रांत के फिरोजपुर में तैनात हरदोई के भरखनी गांव का सपूत ड्यूटी के दौरान शहीद हो गया, भारतीय सेना के इस जवान का निधन कैसे हुआ यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका, लेकिन जवान का पार्थिव शरीर गुरुवार को पैतृक गांव पहुचा । जब जवान का पार्थिव शरीर गांव पंहुचा तो पूरा भरखनी गांव सिसक-सिसक कर रो उठा ।

वहीं परिजनों में भी कोहराम मचा हुआ है। पाली थाना क्षेत्र के भरखनी गांव निवासी बालमुकुंद बाजपेई गांव में ही खेती-बाड़ी करते हैं । इनके दो बेटे दिवाकर लाल उर्फ छुन्ना और प्रवीण वाजपेई दोनों भारतीय सेना में अपनी सेवाएं दे रहे हैं । परिवारिक सूत्रों के मुताबिक दिवाकर लाल पंजाब प्रांत के फिरोजपुर में तैनात थे। सेना की ओर से बुधवार की सुबह सूचना मिली कि दिवाकर लाल शहीद हो गए ।

हालांकि परिजनों ने इस बात को स्पष्ट नहीं किया कि इस जवान दिवाकर लाल की मौत कैसे हुई ? जिसके बाद सैनिक सम्मान के साथ अंत्येष्टि की जाएगी । परिवारिक सूत्रों के मुताबिक शहीद जवान दिवाकर लाल की मां गीता बाजपेई और पत्नी शालिनी का रो-रो कर बुरा हाल है।

दिवाकर लाल के दो बेटे 5 वर्षीय लव और 3 वर्षीय कुश हैं । शहीद जवान दिवाकर लाल का भाई प्रवीण इस समय सिक्किम राज्य में तैनात है। फिलहाल अपने लाल का जब पार्थिव शरीर पैतृक गाव पंहुचा तो पूरा गाव रो पड़ा वहीं परिजनों में भी कोहराम मचा हुआ है

हरदोई से शिवहरि दीक्षित की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.