2017 के बाद अखिलेश यादव को लगा है सदमा उससे उबर नहीं पा रहे हैं – सतीश महाना

अखिलेश यादव पर कसा तंज कहाकि सरकार में कुछ लोगों और माफियाओं की लगी रहती थी चिंता

उत्तर प्रदेश सरकार की साढ़े चार साल की योजनाओं का बखान करने हरदोई पहुंचे जिले के प्रभारी मंत्री व औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने भाजपा सरकार की योजनाओं का बखान किया और गैर भाजपाई सरकारों को निशाने पर रखते हुए कहाकि चाहें यूपी हो या देश भाजपा की सरकारों के जितना काम किसी ने नही किया।

कलेक्ट्रेट सभागार में पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहाकि उत्तर प्रदेश सरकार ने जनहित के लिए काम किये है।किसानों महिलाओं नौजवानों के लिए तमाम योजनाओं का संचालन किया जिसका लाभ सभी को मिला है।पहले की सरकारें जनता से दूर रहती थी लेकिन भाजपा सरकार को आम आदमी अपनी सरकार कहता है और वर्तमान सरकार आम आदमी की अपनी सरकार है जनता में सरकार का भरोसा जगा है।उन्होंने कहाकि पहले उत्तर प्रदेश में लोग आना नही चाहते थे परंतु आज चाहें औद्योगिक क्षेत्र हो य पर्यटन लोग जुड़े है जुड़ रहे है और उत्तर प्रदेश देश ही नही विश्व मे अलग रूप से जाना जा रहा है।

मंत्री ने कहा कि बीजेपी सरकार में सबका साथ सबका विकास हुआ है।कहा कि पूर्व की सरकारों में ग्रामीण इलाकों में एक या दो घंटे मिलती थी बिजली बीजेपी सरकार में बिजली के लिए किसी कों भटकना नही पड़ता है।सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के ट्वीट ठग का साथ,ठग का विकास,ठग का विश्वास,झूठ का फूल पर मंत्री ने कहाकि हमारी सरकार विकास कराती है तो कहते है कि हमारा काम है।

मंत्री ने एक फिल्म का जिक्र करते हुए कहाकि फ़िल्म सदमा में 8 वर्ष की नेत्री हादसा होने पर सब भूल जाती है उसी तरीके से अखिलेश यादव को भी 2017 के बाद सदमा लगा है इसलिए उन्हें पहले की बात याद रहती है और वर्तमान की बातें भूल जाते है।कहा कि इन लोगों ने पूर्व की सरकारों में जनता के हित में कोई काम नहीं किए और गुंडो,माफियाओं कों संरक्षण देने का काम किया।सुभासपा अध्यक्ष ओपी राजभर के बयान 150 विधायक बीजेपी छोड़ने जा रहे है पर प्रभारी मंत्री ने कहा कि बीजेपी की और लोग आकर्षित है और बीजेपी ज्वाइन करने के लिए कई एप्लीकेशन लगे है हम लोग ले नहीं रहे है।कहाकि बीजेपी का कार्यकर्ता मजबूती के साथ खड़ा है और 2022 में बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी।

हरदोई से शिवहरि दीक्षित की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.