ब्रह्मलीन हुए सन्तूर सम्राट पण्डित शिव कुमार शर्मा। संगीत जगत में शोक की लहर

अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सन्तूर वादक भारतीय शास्त्रीय संगीत कलाकार पद्मविभूषण पंडित शिवकुमार शर्मा का मुंबई में हृदयाघात के कारण निधन हो गया है । वह 84 वर्ष के थे। वह पिछले लगभग छह माह से गुर्दे संबंधी समस्याओं से पीड़ित थे और डायलिसिस पर थे। भारतीय संगीत को उनके खास अंदाज की वजह से अंतरराष्ट्रीय पहचान मिली थी।

पंडित शिव कुमार शर्मा का सिनेमा जगत में भी रहा अहम योगदान

फिल्मी जगत में भी पंडित शिव कुमार शर्मा का अहम योगदान रहा. बॉलीवुड में ‘शिव-हरी’ (शिव कुमार शर्मा और हरि प्रसाद चौरसिया) की जोड़ी ने कई हिट गानों का संगीत दिया ।चाँदनी फिल्म का गाना ‘मेरे हाथों में नौ-नौ चूड़ियां’ जो दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी पर फिल्माया गया था उसके लिए संगीत इस हिट जोड़ी ने ही दिया था। इसके अतिरिक्त देखा एक ख्वाब तो सिलसिले हुए गीत और फ़िल्म लम्हे का संगीत भी काफी लोकप्रिय हुआ।

15 मई को होने वाला था कॉन्सर्ट

सबसे दुख की बात ये है कि शिव कुमार शर्मा जी का 15 मई को इवेंट होने वाला था। इस खास पल का हिस्सा बनने के लिए उनके चाहने वाले बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। इस इवेंट में शिव कुमार शर्मा जी हरि प्रसाद चौरसिया के साथ परर्फोमेंस देने वाले थे। लेकिन अफसोस की इस आयोजन से कुछ दिन पूर्व ही शिव कुमार शर्मा ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया ।

दुर्गा जसराज ने जताया दुख

प्रोड्यूसर और अभिनेत्री दुर्गा जसराज ने इस क्षति पर दुख जताते हुए कहा है कि प्रकृति का संगीत खामोश हो गया है. बापूजी पंडित जसराज जी के बाद अब शिव चाचाजी का अचानक जाना मेरे लिए दोहरी और सब कुछ चकनाचूर कर देने वाली घड़ी है।

साहित्यकार ,गजलकार आलोक श्रीवास्तव ने इस दुख के मौके पर कहा- संतूर सम्राट पंडित शिव कुमार शर्मा जी नहीं रहे। हमारी महान भारतीय शास्त्रीय संगीत परंपरा का एक सुरीला सितारा टूट गया। देवाधिदेव महादेव से उनकी आत्मा की शांति हेतु विनम्र प्रार्थना।

मंबई में हुई थी पंडित शिव कुमार शर्मा की पहली परफॉर्मेंस

पंडित शिव कुमार शर्मा का जन्म जम्मू में हुआ था. उन्होंने 13 साल की उम्र में संतूर सीखना शुरू किया था. उनकी पहली परफॉर्मेंस साल 1955 में मुंबई में हुई थी। इस महान शख्सियत ने 84 साल की उम्र में दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया है ।उनके यूं जाने से हर कोई उदास है।

रिपोर्ट – विकास चन्द्र अग्रवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published.