एटीएस ने सहारनपुर से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान से जुड़े एक संदिग्ध आतंकी को किया गिरफ्तार-

यूपी एटीएस ने सहारनपुर से जिस खूंखार आतंकी को पकड़ा है। उसका मकसद जलजला लाने का था और वह फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा था। आतंकी 15 अगस्त को किसी सरकारी भवन या बड़ी इमारत में फिदायीन हमले का प्लान बना रहा था। यूपी ATS के मुताबिक आतंकी मुहम्मद नदीम जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान, पाकिस्तान (TTP) के आतंकियों से सीधे संपर्क में था। वह जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान की विचारधारा से प्रभावित था।

उसे जैश-ए-मुहम्मद ने नूपुर शर्मा को मारने का काम दिया था. मोहम्मद नदीम ने पूछताछ में बताया कि उसे अफगानिस्तान व पाकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मोहम्मद और तहरीख-ए-तालिबान के आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे। जिसके लिए वह वीजा लेकर पाकिस्तान जाने वाला था।

एटीएस ने बताया कि एजेंसी को सूचना मिली थी कि सहारनपुर के गंगोह थाना के कुंडाकलां गांव में एक शख्स जैश और तहरीक-ए-तालिबान (टीटीपी) से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है। इसके बाद मुहम्मद नदीम की पहचान करते हुए उससे पूछताछ की गई। आतंकी मुहम्मद नदीम के फ़ोन से पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के जैश-ए-मुहम्मद व टीटीपी के आतंकियों से चैट और वाइस मैसेज भी मिले हैं। आतंकी मुहम्मद नदीम ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तानी जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी ने उसको नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया था।

उसने बताया कि वह 2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के विभिन्न आतंकवादियों से वाट“सएप, टेलीग्राम, आईएमओ, फेसबुक मैसेंजर और क्लब हाउस आदि सोशल मीडिया माध्यमों से संपर्क में था। कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गयी है। मुहम्मद नदीम के पास से एक मोबाइल व दो सिम व प्रशिक्षण साहित्य (विभिन्न प्रकार की IED एवं बम बनाने का Fidae Force का) बरामद हुआ है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.