न करें मानसून सीजन में इन सब्जियों का सेवन-

मानसून सीजन में असामान्य तापमान के चलते सर्दी, खांसी और फ्लू का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही मच्छर के काटने से डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया और जीका वायरस जैसी बीमारियां भी दस्तक देती हैं। बारिश का मौसम हमें फ्रेश और खुश महसूस कराता है. लेकिन बारिश अपने साथ कई तरह की बीमारियां भी लाती है।
इसके लिए मानसून सीजन में सेहत का विशेष ख्याल रखें। चिलचिलाती धूप और भीषण गर्मी के बाद जब बारिश की बूंदे जमीन पर गिरती हैं, तो सभी लोग राहत की सांस लेते हैं. लेकिन इस सुकून के साथ कुछ सावधानियां भी जरूरी हैं।

बरसात के दिनों में जीवाणु और विष्णु बड़ी तेजी से प्रजनन करते हैं और सब्जियों को दूषित करते हैं। इनमें कई ऐसी सब्जियां हैं, जिनका सेवन करने से आप बीमार पड़ सकते हैं। बारिश के दौरान हमारी इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है, जिसकी वजह से हम जल्द ही किसी भी बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

बारिश में हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से बचना चाहिए. ये जल्दी खराब होती हैं और इनमें छोटे-छोटे कीड़े होने लगते हैं। मानसून में मशरूम खाना भी इंफेक्शन के खतरे को बढ़ाता है. बरसात में मशरूम से दूरी बनाए रखें। बारिश में कच्ची सब्जियों का सलाद खाना पेट संबंधी समस्याएं पैदा कर सकता है. इसलिए खीरा, मूली और गाजर का कच्चा सलाद खाने से बचें। देरी से पचने वाली सब्जियां जैसे आलू, अरवी, भिंडी, फूलगोभी और मटर नहीं खानी चाहिए। हरी मिर्च और शिमला मिर्च का सेवन भी कम से कम करें।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.