उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के एक मुस्लमि परिवार के खिलाफ जारी किया गया फतवा-

देशभर में जारी गणेश पूजा के बीच हुबली ईदगाह मैदान में गणेश मूर्ति स्थापित करने को लेकर माहौल पहले से खराब है। भाईचारे और आपसी सौहार्द की बात करें तो भारत में पिछले कुछ वर्षों से माहौल पहले से ज्यादा खराब हो गया है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि छोटी-छोटी बातों पर एक-दूसरे समुदाय के लोगों को जान मारने की धमकी तक दिया जाने लगा है।

ये मामला अलीगढ़ के थाना रोरावर इलाके का है। यहां रूबी आसिफ खान नाम की मुस्लिम महिला ने घर में गणेश जी मूर्ति स्थापित की, जिसके बाद वो मौलानाओं के निशाने पर आ गई। सहारनपुर के मौलाना मुफ्ती अरशद फारुकी ने उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया है। उसके बाद से अलीगढ़ में तनाव बढ़ गया हैं और पुलिस को सतर्क रहने को कहा गया है।

रूबी आसिफ खान ने हिंदू देवी देवताओं की पूजा याचना करने पर विवादित बयान देने वाले सहारनपुर के मुफ्ती अरशद फारुकी को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि यह लोग देश का बंटवारा करना चाहते हैं, ऐसे मौलवी कभी सच्चे मुसलमान नहीं हो सकते।

भारतीय जनता पार्टी की महिला मोर्चा की जयगंज मंडल उपाध्यक्ष रूबी आसिफ खान अपने पति आसिफ खान के साथ भगवान श्री गणेश की प्रतिमा को बाजार से खरीद कर लाई और अपने घर में स्थापित किया। भाजपा नेता रूबी आसिफ खान का कहना है कि मैं हिंदुओं के हर पर्व को मनाती हूं। आगे भी मनाऊंगी। यह लोग मेरे ऊपर पहले भी फतवा जारी कर चुके हैं। पोस्टर भी लगवा चुके हैं। मैं, सिर्फ यही चाहती हूं हिंदू-मुस्लिम एकता बरकरार रहे।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.