पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर आतंकवाद विरोधी आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया,हो सकते हैं गिरफ्तार-

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के अध्यक्ष इमरान खान पर आतंकवाद विरोधी आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है। जल्द ही उनकी गिरफ्तार होने की आशंका है। इस्लामाबाद में रावल झील के पूर्वी तट पर स्थित आवासीय क्षेत्र बानी गाला के आसपास असामान्य हलचल देखी गई है।           वहीं, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश को धमकी देने के आरोप में इमरान खान के खिलाफ आतंकवाद विरोधी अधिनियम के तहत आतंकवाद का मामला दर्ज किया गया है।

प्रधानमंत्री और पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान के आवास की ओर जाने वाली सड़क पर सुरक्षा कड़ी कर दी है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के उपाध्यक्ष शाह महमूद कुरैशी का कहना है कि सरकार इमरान खान को गिरफ्तार करने की योजना बना रही है। इमरान खान ने शनिवार को इस्लामाबाद के एफ-9 पार्क में अपने सार्वजनिक भाषण के दौरान पीटीआई नेता शाहबाज गिल के साथ हुए व्यवहार को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों, एक महिला न्यायाधीश, राज्य संस्थानों और नौकरशाहों को खुले तौर पर धमकी दी थी।

इसके अलावा उनके खिलाफ न्यायिक और कानून प्रवर्तन अधिकारियों को भी चैलेंज देने का मामला दर्ज किया गया है, जो कि आतंकवाद अधिनियम के सेक्टर 7 के अंतर्गत आता है। इमरान खान ने महिला जज को गंभीर परिणाम भुगतने की खुली धमकी देते हुए कहा था, “जेबा तैयार रहें, हम आपके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

इमरान खान ने जेल में बंद इमरान के करीबी नेता शाहबाज गिल के समर्थन में एक रैली निकाली थी। जिसमें इमरान ने यह बयान दिया था। इमरान ने कहा कि अगर गिल के खिलाफ मामला दर्ज किया जा सकता है, तो फजलुर रहमान, नवाज शरीफ और राणा सनाउल्लाह को भी न्यायिक कार्यवाही का सामना करना पड़ेगा। खान ने कहा कि गिल के साथ जो हुआ वह उनके द्वारा कही गई बातों के कारण नहीं था, यह बदले की राजनीति के तहत हुआ है।

पाकिस्तान में मीडिया पर निगरानी रखने वाली संस्था ने सभी उपग्रह टेलीविजन चैनलों की ओर से पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के भाषणों के सीधे प्रसारण पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.