राजस्थान में मंगलवार को हुई भारी बारिश कहर बनकर टूटी,दो लोगों की मौत, दो लापता-

राजस्थान में लगातार बारिश के कारण नदियों में जलस्तर बढ़ने से बारां और बूंदी जिलों में दो लोग बह गए और दो अन्य लापता बताए जा रहे हैं। अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि राजस्थान के तीन जिलों झालावाड़, धौलपुर और बारां में मूसलाधार बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं और बचाव कार्यों के लिए सेना को बुलाया गया है।

बाहर निकालने के लिए सेना और आपदा राहत दल ने अभी तक 1,100 से ज्यादा लोगों का रेस्क्यू किया है. बताया जा रहा है कि बारां और झालावाड़ जिलों में वायुसेना ने 50 से अधिक लोगों को एयरलिफ्ट किया है। पुलिस उपाधीक्षक (अंता सर्कल) तरुण कांत सोमानी ने कहा, बारां जिले के गांव डाबरी काकाजी का निवासी प्रेमनारायण सुमन (35) जो सोमवार की शाम बाढ़ में बह गया था, मंगलवार को उसके गांव के पास सेउसका बरामद किया गया। सर्किल निरीक्षक (नैनवान) बाबूलाल मीणा के मुताबिक, बूंदी जिले में सुवासदा गांव निवासी सत्यनारायण प्रजापत (50) मंगलवार को मवेशियों के लिए चारा लेने जाते समय सुबह पानी में बह गया और उसकी मौत हो गई।

ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री रमेश मीणा ने करौली जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया है. इस दौरान उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ‘मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव से बात की गई है, उन्हें बाढ़ की स्थिति से अवगत करा दिया है। इस दौरान पूर्वी राजस्थान के कई अन्य इलाकों में 13 सेंटीमीटर तक बारिश हुई। मौसम विभाग ने बांसवाड़ा तथा डूंगरपुर जिलों में भारी से अति भारी बारिश और भीलवाड़ा व चित्तौड़गढ़ जिले में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.