उड़ानों के लिए कई वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकीं भारतीय पायलट जोया अग्रवाल को एसएफओ विमानन संग्रहालय (म्यूजियम) में दी गई जगह –

कैप्टन जोया एयर इंडिया के विमान बोइंग-777 की वरिष्ठ पायलट हैं। उनके पास करीब 10 साल से भी अधिक का उड़ान का अनुभव है। जोया अग्रवाल उत्तरी ध्रुव (नॉर्थ पोल) के ऊपर विमान उड़ाने वाली पहली भारतीय महिला पायलट हैं। 2021 में पहली बार, जोया अग्रवाल के नेतृत्व में एयर इंडिया की एक ऑल वूमेन पायलट टीम ने अमेरिका में सैन फ्रांसिस्को (एसएफओ) से भारत के बेंगलुरु शहर तक नॉर्थ पोल को कवर करते हुए दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग को कवर किया था।

अपनी उड़ानों के लिए कई वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकीं भारतीय पायलट जोया अग्रवाल को एसएफओ विमानन संग्रहालय (म्यूजियम) में जगह दी गई है। एसएफओ संग्रहालय ने जोया अग्रवाल के विमानन में असाधारण करियर और दुनिया भर में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए उनको सम्मानित किया था। जोया ने लाखों लड़कियों और युवाओं को उनके सपनों को पूरा करने के लिए प्रेरित किया है।

कैप्टन जोया अग्रवाल ने बताया कि वह सैन फ्रांसिस्को एविएशन लुइस ए टर्पेन एविएशन म्यूजियम में पायलट के रूप में जगह पाने वाली एकमात्र इंसान हैं। एयर इंडिया के साथ उनका करियर उल्लेखनीय रहा है। 2021 में एसएफओ से बेंगलुरु के लिए उन्होंने एक सर्व-महिला चालक दल के साथ रिकॉर्ड-तोड़ उड़ान का नेतृत्व किया था।
सैन फ्रांसिस्को एविएशन म्यूजियम के एक अधिकारी ने एएनआई को बताया, “वह हमारे कार्यक्रम में शामिल होने वाली पहली महिला भारतीय पायलट हैं।

अमेरिका स्थित विमानन संग्रहालय एयर इंडिया की सभी महिला पायलटों की उपलब्धि से प्रभावित हुआ और इस तरह उन्होंने अपने संग्रहालय में पायलट को जगह की पेशकश की।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.