राष्ट्रपति पुरस्कार सम्मानित अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोही के साथ इंस्पेक्टर ने किया दुर्व्यवहार, एसपी से कार्यवाही की मांग!

जनपद बाराबंकी के ख्याति प्राप्त समाजसेवी अंतरराष्ट्रीय पर्वतारोही योग शिक्षक अजय कुमार बाजपेई ने पुलिस अधीक्षक बाराबंकी को पत्र देकर उनके साथ दुर्व्यवहार करने वाले निरीक्षक कृष्णबली सिंह के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है ।

अजय कुमार बाजपेई ने पुलिस अधीक्षक बाराबंकी को दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि बुधवार को वह जनपद न्यायालय में अधिवक्ता वरुण मिश्रा से मिलने के लिए गए थे। उन्हें कुछ दिनों में विदेश यात्रा पर जाना है उसी सिलसिले में कुछ विधिक सलाह लेने के लिए अधिवक्ता के पास गए थे अधिवक्ता ने उन्हें सीजीएम कोर्ट में बुलाया इसी दौरान निरीक्षक कृष्ण बली सिंह वहां पर मौजूद थे अजय कुमार बाजपेई वहां से गुजर रहे थे इसी बीच कृष्ण बली सिंह ने रास्ते में गुजरने के दौरान सामने पड़ जाने पर उनसे अभद्रता की ।

जब अजय कुमार बाजपेई ने अपना परिचय देते हुए शालीनता से बात करने को कहा तो संबंधित निरीक्षक ने और अधिक अभद्रता करते हुए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया और मार्फिन तस्करी के झूठे मुकदमे में जेल भेज कर दिमाग ठीक करने की धमकी भी दी । अजय कुमार बाजपेई का कहना है कि उन्होंने और उनके परिवार ने देश समाज के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर दिया उनके बड़े भाई भारतीय वायु सेना में फाइटर पायलट के रूप में अपनी सेवाएं देते हुए भारतीय सीमाओं की रक्षा करते हुए पाकिस्तान सीमा पर शहीद हो गए थे आज भी उनकी प्रतिमा बाराबंकी नगर के देवा तिराहे स्थित सोल्जर बोर्ड के सामने लगी हुई है ।

अजय कुमार बाजपेई के ताऊजी पंडित श्याम लाल बाजपेई प्रख्यात समाजसेवी उत्तरप्रदेश सरकार में मंत्री भी थे । स्वयं अजय कुमार बाजपेई पर्यावरण की रक्षा के लिए हजारों किलोमीटर की साइकिल यात्रा कर चुके हैं योग शिक्षक और पर्वतारोही के रूप में कई राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके हैं।

इतना ही नहीं अपनी जान पर खेलकर विदेशी पर्वतारोहियों की जान बचाने के लिए भारत सरकार ने इन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित भी किया था और तत्कालीन जिला अधिकारी बाराबंकी विकास गोथलवाल के द्वारा भी इनकी सराहनीय समाज सेवा के लिए नगर पालिका बाराबंकी में जिला प्रशासन की ओर से भव्य कार्यक्रम आयोजित करके अजय बाजपेई को सम्मानित किया गया था

इस घटना के बाद अजय बाजपेई मानसिक रूप से बहुत दुखी है और पुलिस अधिकारी के व्यवहार से हैरान भी हैं । बाजपेई ने आरोप लगाया कि पूरा परिचय देने के बावजूद पुलिस अधिकारी के द्वारा इस प्रकार से सरेआम गुंडागर्दी करना इस बात को प्रदर्शित करता है कि भारतीय लोकतंत्र में जनता की सम्मान और सुरक्षा के लिए तैनात पुलिसकर्मी जन सामान्य से किस प्रकार का व्यवहार करते हैं।

ऐसे ख्याति प्राप्त व्यक्ति को सार्वजनिक रूप से अपमानित करते हुए धमकी देते हुए पुलिस इंस्पेक्टर कृष्णबली सिंह ने उन्हें अपार कष्ट पहुंचाया है और उनकी प्रतिष्ठा को भी समाज में धूमिल करने का काम किया है । अजय कुमार बाजपेई ने पुलिस अधीक्षक बाराबंकी से आरोपी इंस्पेक्टर के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की है और ऐसा ना होने पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के समक्ष अनशन पर बैठने की चेतावनी भी दी है.

द इंडियन ओपिनियन
बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.