15 अगस्त को लाल किले पर होने वाले कार्यक्रम को लेकर खुफिया एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट-

स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी हमले का खुफिया अलर्ट मिलने के बाद लालकिला सहित एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस अड्डों पर चौकसी बढ़ा दी गयी है। खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर सुरक्षा एजेंसियों को कहा है कि पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए घातक हथियार, जिसमें पिस्टल, हेंड ग्रेनेड और AK47 जैसे हथियार शामिल हैं, भारत में भेजे जा चुके हैं। कुछ हथियारों को बीएसएफ ने पकड़ा था, लेकिन इसके बावजूद काफी हथियार भारत में भेजे जा चुके हैं।

पुलिस केंद्रीय एजेंसियों की मदद से एंटी ड्रोन सिस्टम की भी तैनाती कर रही है। पिछले दिनों पंजाब और अलग-अलग राज्यों में गिरफ्तार आतंकियों ने पूछताछ में बताया कि ड्रोन के जरिए काफी सारे IED भारत मे भेजे जा चुके हैं। सुरक्षा के मद्देनजर 105 ऊंची इमारतों पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षाबलों की तैनाती की गयी है।

लालकिले की सुरक्षा को चाक-चौबंद बनाने में जुटी पुलिस ने करीब 10 हजार से ज्यादा जवानों की तैनाती की है। जमीन से आसमान तक कड़ा पहरा है। स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान नो-फ्लाइंग जोन रहेगा। पतंग, गुब्बारे और ड्रोन उड़ाने पर पाबंदी लगा दी गयी है। पतंगबाजी रोकने के लिए 400 से ज्यादा लोगों को पुलिस द्वारा तैनात किया जायेगा।

खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर कहा है कि 15 अगस्त के दिन देश मे कई जगह आतंकी लोन वुल्फ अटैक भी कर सकते हैं। इस अटैक के जरिए अकेला शख्स तेज धारदार हथियार और बड़े वाहन के जरिए भीड़ पर हमला कर सकता है।

खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट में कहा है कि SFJ, जैश ए मोहम्मद, ISIS ख़ुरासान मोड्यूल नाम के आतंकी संगठन 15 अगस्त के दौरान बड़ा हमला करने की फिराक में हैं।
400 से ज्यादा लोगों को पुलिस द्वारा तैनात किया जायेगा। संदिग्धों पर नजर रखने के लिए किरायेदार, गेस्ट हाउस, साइबर कैफे आदि की जांच के लिए दिल्ली पुलिस सघन अभियान चला रही है। सुरक्षा तैयारी की जांच करने के लिए डमी आइइडी रखकर मॉक ड्रिल की जा रही है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.