जाने दुनिया के चौथे अमीर आदमी की कहानी – कैसे बने अडानी दुनिया के सबसे अमीर इंसान- पूरी सच्चाई

 

गौतम अडानी भारत के एक उद्योगपति एवं स्वयं निर्मित अरबपति हैं जो कि अडानी समूह के अध्यक्ष हैं। सबसे मशहूर बिजनेसमैन गौतम अडानी की, तंग गलियों से निकलकर आज दुनिया भर में पहचाने जाते हैं. चलिए एक नजर ड़ालते हैं भारत के सबसे अमीर उद्योगपति गौतम अडानी जीवन पर-

गौतम अडानी का जन्म 24 जून 1962 में अहमदाबाद के रतनपोल में स्थित सेठनी पोल क्षेत्र के गुजराती जैन परिवार में हुआ था। गौतम अडानी के पिता का नाम शांतिलाल जैन एवं माता का नाम शांता जैन अदानी है। अडानी का परिवार अहमदाबाद के पोल इलाके की शेठ चॉल में रहते थे। अडानी ने अहमदाबाद के सेठ सीएन विद्यालय से स्कूल की और गुजरात विश्वविद्यालय में उन्होंने वाणिज्य में स्नातक के लिए प्रवेश लिया जिसे उन्होंने दूसरे वर्ष के बाद ही छोड़ दिया।

अपनी पढ़ाई बीच में अधूरी छोड़कर अडानी एक दिन कुछ पैसे लेकर मुंबई आ गए, उन्होंने वहां लगभग 2 से 3 वर्षों तक काम किया और बाद में मुंबई के झवेरी बाजार में अपनी खुद की डायमंड ब्रोकरेज फर्म की स्थापना की। पहले ही साल कंपनी ने लाखों का टर्नओवर किया।

इसके बाद अहमदाबाद आकर भाई की प्लास्टिक फैक्ट्री में काम करने लगे फिर पीवीसी इंपोर्ट का सफल बिजनेस शुरू हुआ। अडानी ने इस कारोबार से पूंजी इकट्ठा की उसके बाद 1988 में एक्सपोर्ट लिमिटेड की नींव शुरू की, इसके बाद कंपनी पॉवर व एग्रीकल्चर कमोडिटीज के सेक्टर में काम करने लगी धीरे-धीरे अडानी ने कई कारोबार में हाथ डाले और इन्हें हर जगह सफलता नसीब हुई।अडाणी समूह ने 2020 में सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा दुनिया की सबसे बड़ी सौर बोली जीती थी सयंत्रकी कीमत 6 billion-dollar थी।
इसके साथ ही गौतम अडानी फाउंडेशन शिक्षा, ग्रामीण विकास, चिकित्सा सहायता, धार्मिक पहल इन चार अलग-अलग कार्यों में भी सक्रिय है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.