जाने सावन में किन-किन चिजों का सेवन नहीं कर सकते-

श्रावण का महीना, जिसे सावन के नाम से भी जाना जाता है, हिंदू कैलेंडर के सबसे पवित्र महीनों में से एक माना जाता है । सावन 14 जुलाई से शुरू हो गया है । सावन महीना हिंदू कैलेंडर का पांचवां महीना है। इसे पूरे साल का सबसे शुभ महीना माना जाता है। सावन के महीने में सोमवार के दिन रखे जाने वाले व्रत को सावन सोमवार व्रत के रूप में जाना जाता है। कुछ लोग इस दिन निर्जला व्रत रखते हैं तो कुछ लोग दिन भर हल्का सात्विक भोजन करते हैं। सावन का महीना और भादो का महीना बारिश का समय हैं और आयुर्वेद (Ayurveda) के अनुसार, वर्षा ऋतु (rainy season) की अपनी वर्षा ऋतुचर्या (Lifestyle) होती है।
जो लोग इसका पालन करते हैं उन्हें किसी तरह के रोग और स्वास्थ्य समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है।आजकल कोल्ड स्टोरेज से लाए गए फूड्स खाने का चलन है, जो सेहत के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। पाचन कमजोर होने के कारण सावन के मौसम में कुछ विशेष सब्जियों का सेवन नहीं करना चाहिए, जैसे, आलू, मटर, टमाटर इत्यादि. क्योंकि ये सब्जियां सर्दियों से होती हैं। और इनका सेवन उसी सीजन में करना लाभ देता है।

सर्दी के मौसम में इन सब्जियों का सेवन जितना लाभकारी है वर्षा ऋतु में उतना ही हानिकारक है। सावन में मांसाहारी भोजन करना पूर्णतः निषेध माना गया है। ऐसे में सावन की पूरी अवधि में पूरी तरह सात्विक भोजन ही करना चाहिए।सावन के पवित्र महीने में आपको मांस, चिकन, अंडे और मछली जैसे मांसाहारी खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए। श्रावण के पवित्र महीने के दौरान आपको लाल मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर, टेबल नमक अन्य सभी मसालों से बने भोजन का सेवन करने से बचना चाहिए।आप सिर्फ सेंधा नमक का उपयोग कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.