यूपीए प्रतिनिधिमंडल के सदस्य झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस से मुलाकात की-

झारखंड में सियासी संकट के बीच UPA प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल रमेश बैस से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन देकर CM हेमंत सोरेन की विधायकी पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की। राज्यपाल से मिलने के बाद एक नेता ने कहा कि एक दो दिन में मामला को स्पष्ट किया जाएगा. हमने राज्यपाल से कहा कि राज्य में जो उहापोह की स्थिति है उसे दूर कीजिए। राज्यपाल ने कहा कि चुनाव आयोग से रिपोर्ट मिल गई है।

ज्ञापन में महागठबंधन ने अपने एकजुट होने का दावा किया। राजभवन में प्रतिनिधिमंडल करीब आधे घंटे तक रुका। कांग्रेस से कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की, सांसद गीता कोड़ा, राज्य सभा सांसद धीरज साहू, JMM से विजय हंसदा और महुआ मांझी राज्यपाल से मुलाकात करने पहुंचे थे।

झारखंड में विपक्षी बीजेपी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विधानसभा से अयोग्य घोषित करने की मांग की है। जिसके बाद राज्य में ये राजनीतिक संकट पैदा हुआ है।
चुनाव आयोग की ओर से झारखंड के राज्यपाल को इस संबंध में अपनी राय भेजी गई है जिसमें हेमंत सोरेन को अयोग्य ठहराने की सिफारिश की गई है। हालांकि राज्यपाल ने भी अभी तक कोई फैसला नहीं सुनाया है। इसी बीच सीएम हेमंत सोरेन ने महागठबंधन के विधायकों को अपने आवास पर जमा किया था।

मुलाकात के बाद राजभवन से बाहर निकली सांसद गीता कोड़ा ने कहा कि राज्यपाल ने 2 से 3 दिन के अंदर अपना फैसला चुनाव आयोग को भेजने के लिए कहा है।
वहीं दूसरी तरफ कैबिनेट की बैठक के लिए सभी मंत्रियों को रायपुर से रांची बुला लिया गया है। जेएमएम कोटे के मंत्री जहां पहले से ही रांची में थे तो कांग्रेस कोटे के 4 मंत्री जिन्हें रायपुर शिफ्ट किया गया था।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.