अपनी मांगो को लेकर सोमवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर महापंचायत, किसानों ने तोड़ी बैरिकेडिंग, पुलिस ने हिरासत में लिया-

बेरोजगारी समेत कई मांगों को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर आज (22 अगस्त) किसानों का पहुंचना जारी है। हालांकि पुलिस की तरफ से इसकी इजाजत नहीं मिली है, लेकिन संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) का कहना है कि जहां हमें रोका जाएगा वहीं पर हम प्रदर्शन करेंगे।

वहीं महापंचायत में शामिल होने के लिए पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, बिहार सहित दूसरे राज्यों के किसान दिल्ली पहुंचने लगे हैं। पुलिस ने किसानों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए राजधानी के सभी बॉर्डरों पर बेरीकेड़ लगा दिए हैं. पुलिस सुबह से ही सभी बॉर्डरों पर मुस्तैद दिखाई दे रही है। दिल्ली के अलावा नई दिल्ली के बॉर्डर को रविवार रात से ही सील कर दिया गया था।

इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा के बीच फूट की खबरें सामने आने लगी हैं। स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) ने कहा कि महापंचायत से लेना-देना नहीं है। वहीं भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी अलग होने का ऐलान कर चुके हैं।

दिल्ली के जंतर-मंतर पर आयोजित किसान महापंचायत की वजह से दिल्ली वालों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ट्रैफिक पुलिस की जानकारी के मुताबिक टॉलस्टॉय मार्ग, संसद मार्ग, जनपथ, विंडसर प्लेस, कनॉट प्लेस, अशोक रोड, बाबा खड़क सिंह मार्ग, पंडित पंत मार्ग समेत आस-पास के कई रास्तों पर दिनभर जाम रहने की संभावना है। दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं और सभी सीमाओं पर आने-जाने वाली गाड़ियों की चेकिंग की जा रही है. इस वजह से कई जगह जाम के हालात बन गए हैं और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत को रविवार को दिल्ली पुलिस ने गाजियाबाद बॉर्डर से हिरासत में ले लिया था। इसके बाद टिकैत को मधु विहार थाने ले जाया गया।
जिसके बाद जब थाने के बाहर टिकैत समर्थकों की भीड़ बढ़ने लगी तो पुलिस ने उनको वापस दिल्ली-गाजीपुर बॉर्डर पर छोड़ दिया।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.