ओवैसी ने कहा कि सरकार यह भेदभाव क्‍यों कर रही है? एक से नफरत और दूसरे से मोहब्बत क्यों? देखें पूरी खबर-

कांवड़ यात्रा चल रही है। इस बीच यूपी में कांवड़ियों पर जगह-जगह पुष्‍प वर्षा हुई है। कांवड़ियों के स्‍वागत की तस्‍वीरें पूरे प्रदेश से आ रही हैं तो वहीं इसे लेकर सियासत का दौर भी शुरू हो गया है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने हमला बोला है।

असदुद्दीन ओवैसी ने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार को घेरा असददुद्दीन ओवैसी ने कहा कि सरकार यह भेदभाव क्‍यों कर रही है? एक से नफरत और दूसरों से मोहब्बत क्यों?एक मज़हब के लिए ट्रैफिक डाइवर्ट और दूसरे के लिए बुलडोजर क्यों?

असदुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा कि अगर इन पर (कांवड़ियों पर) फूल बरसा रहे हैं, तो कम से कम हमारे घर तो मत तोड़िए। ट्वीट्स में ओवैसी ने लिखा-पंखुड़ियों की बौछार कीं, कांवड़ियों का झंडों से इस्तकबाल किया। उनके पैरों पर लोशन लगाया और उनके साथ इंतेहाई शफकत से पेश आए। उन्होंने लिखा ‘दिल्ली पुलिस ने लोहारों को हटाने की बात की जिससे कांवड़िए नाराज न हो जाएं।

डिप्‍टी सीएम केशव मौर्य ने ओवैसी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि असदद्दीन ओवैसी फिजूल की बातें करते हैं। वे कांवड़ यात्रा के महत्‍व को पढ़ें। तीर्थ यात्रियों की सेवा करने की परम्‍परा है। केशव मौर्य ने आगे यह भी कहा कि उनका एजेंडा है अपना वोट बैंक बनाना। लेकिन उन्‍हें समझ लेना चाहिए कि आए दिन उल्‍टे-सीधे बयान देना ठीक नहीं है।

बीजेपी विधायक शलभमणि त्रिपाठी ने ओवैसी पर पलटवार करते हुए कहा है कि वे पूछ रहें, कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा का पैसा कहां से आ रहा, ये भी कोई सवाल है भला,
उन्होंने कहा कि पैसा तो वहीं से आ रहा है जहां से हजयात्रियों और हजहाउसों के लिए आता था।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.