RBI हुआ सख्त, जाने किन को-ऑपरेटिव बैंकों पर लगा लाखों का जुर्माना-

बैंकिंग नियमों का सही से पालन नहीं करने के कारण RBI अक्सर बैंकों के ऊपर कार्रवाई करते रहता है. हालिया समय में खास तौर पर सहकारी बैंकों को लेकर रिजर्व बैंक सख्त हुआ है। रिजर्व बैंक ने आठ सहकारी बैंकों के ऊपर कार्रवाई की है। बैंकिंग के कुछ प्रावधानों का सही से पालन नहीं करने के कारण इन सहकारी बैंकों के ऊपर 40 लाख रुपये तक जुर्माना भी लगाया गया है।

सबसे ज्यादा 40 लाख रुपये का जुर्माना मेहसाना को-ऑपरेटिव बैंक के ऊपर लगा है। जमा रकम पर ब्याज दर को लेकर सहकसहकारी बैंकों के लिए 2016 में जारी किए उसके एक निर्देश का मेहसाना को-ऑपरेटिव बैंक ने सही से पालन नहीं किया था। रिजर्व बैंक ने बताया कि वरुड अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित और यवतमाल अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक के ऊपर भी कार्रवाई की गई है। इनमें से दो बैंक वरुड अर्बन को को-ऑपरेटिव बैंक और यवतमाल अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक महाराष्ट्र में स्थित हैं, जबकि जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में स्थित है।

इनके अलावा केवाईसी के कई प्रावधानों का उल्लंघन करने पर छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी बैंक मर्यादित, रायुपर के ऊपर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगा है। इससे पहले पिछले महीने सेंट्रल बैंक ने उत्तर प्रदेश स्थित लखनऊ अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक और अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड सीतापुर के ऊपर शिकंजा कसा था। वित्तीय स्थिति खराब होने के कारण इन दोनों बैंकों के ऊपर पाबंदियां लगाने का फैसला लिया गया था। इन दोनों सहकारी बैंकों के ऊपर छह महीने के लिए पाबंदियां लागू हैं।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.