सरकार द्वारा तीन ग्रामीण बैंकों को पूँजी बाजार में उतारने के निर्णय के विरुद्ध लामबन्द हुये ग्रामीण बैंक कर्मी

आल इण्डिया रीजनल रूरल बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन के आवाहन पर आज लखनऊ स्थित नाबार्ड के क्षेत्रीय कार्यालय पर सैकड़ों सेवारत और रिटायर्ड ग्रामीण बैंक कर्मियों ने अपनी माँगों के समर्थन में धरना दिया और प्रदर्शन किया।

धरने को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश स्टेट ग्रामीण बैंक इम्प्लॉइज फेडरेशन के महासचिव कामरेड हरीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि, राष्ट्रीय संगठन अरेबिया के आवाहन पर आज देश के सभी राज्यों में ग्रामीण बैंक कर्मियों द्वारा धरना और प्रदर्शन किया गया है ।

मांगों के संबंध में श्री मिश्र ने बताया कि भारत सरकार ग्रामीण बैंकों को भी पूंजी बाजार में उतारने की तैयारी कर रही है । अतः तीन ग्रामीण बैंकों का आईपीओ लाने की खिलाफत , देश के सभी 43 ग्रामीण बैंकों का आपस में विलय कर भारतीय राष्ट्रीय ग्रामीण बैंक की स्थापना की माँग , सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर बनाए गए औद्योगिक न्यायाधिकरण के निर्णय के अनुसार ग्रामीण बैंक कर्मियों को प्रायोजक बैंक कर्मियों के समान वेतन भत्ते और अन्य सुविधाएं , बैंकिंग उद्योग के समान पदोन्नति के अवसर, सभी रिक्तियों पर अधिकारियों और कर्मचारियों की तत्काल भर्ती तथा ग्रामीण बैंक की शाखाओं पर कार्यरत दैनिक वेतन भोगी के रूप में कार्य कर रहे कर्मियों का स्थायीकरण जैसी मांगों को लेकर यह आन्दोलन चलाया जा रहा है ।

आंदोलन के प्रथम चरण में 22 जुलाई को सभी ग्रामीण बैंकों के प्रधान कार्यलयों पर धरना प्रदर्शन किया गया। उन्होंने बताया कि दिनांक 10 अगस्त को देशभर से पहुँचने वाले ग्रामीण बैंक कर्मी दिल्ली में संसद भवन पर इन मांगों के समर्थन में धरना देंगे। इसके अतिरिक्त 23 सितंबर को ग्रामीण बैंकों में 1 दिन की हड़ताल रहेगी।

आज के धरने को संबोधित करते हुए ऑफिसर्स फेडरेशन के महासचिव ने कहा कि ,बैंक में पिछले कई सालों से नई भर्ती न होने के कारण मौजूदा स्टाफ को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने माँग की कि इस वर्ष की नई भर्तियों और पदोनतियों की प्रक्रिया को शीघ्र पूरा किया जाए ।

आज के धरने में आये प्रदेश की तीन ग्रामीण बैंकों के अधिकारी व कर्मचारियों को ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों शैलेन्द्र सिंह, विक्रम श्रीवास्तव ,विमल शुक्ला ,कृष्णानंद त्रिपाठी ,चैन सिंह रावत, यीशु त्यागी ,राजेश खत्री व कर्मचारी नेतागण शिवम द्विवेदी, रोहित गंगवार, विदित सिंह व आनंद त्रिपाठी ने संबोधित किया। धरने की अध्यक्षता इम्प्लॉइज फेडरेशन के अध्यक्ष कामरेड एल के सिंह द्वारा की गई। धरने की समाप्ति पर भारत सरकार को संबोधित मांगों के समर्थन में एक ज्ञापन नाबार्ड के उच्च अधिकारियों को सौपा गया।

विकास चन्द्र अग्रवाल – द इण्डियन ओपीनियन

Leave a Reply

Your email address will not be published.