2024 के चुनाव से पहले भक्तों के लिए खुलेगा गर्भगृह: राम मंदिर निर्माण को हुए दो साल पूरे-

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कार्य पूरी तेजी के साथ चल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांच अगस्त 2020 को राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन किया था। पांच अगस्त को निर्माण कार्य के दो साल पूरे हो गए हैं।

2 साल बाद हर राम भक्त ये जानना चाहता है कि आखिर भगवान राम के मंदिर का निर्माण कितना हुआ, कब राम भक्तों को राम लाल के दर्शन होंगे। अयोध्या में जब राम मंदिर बनकर तैयार होगा तो वह सबसे भव्य और दिव्य दिखेगा। भक्त राम लला के अलौकिक दर्शन कर सकेंगे। मंदिर की मजबूती पर खासा फोकस किया गया है। कॉन्क्रीट से मजबूत नींव तैयार कर ली गयी है।

निर्माण स्थल पर काम कर रहे इंजीनियरों की माने तो मंदिर निर्माण का 40 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। मंदिर की पहली मंजिल 2024 की शुरुआत तक तैयार होने की उम्मीद है। राम जन्मभूमि ट्रस्ट द्वारा नियुक्त 5 पर्यवेक्षक मुख्य इंजीनियरों में से एक जगदीश कुमार ने बताया कि यह निर्माण स्थल पर एक प्लिंथ निर्माण हो रहा है और यह काम तेजी से आगे बढ़ रहा है। हमने एक साथ वास्तविक मंदिर का निर्माण ‘गर्भ गृह’ या गर्भगृह क्षेत्र से शुरू किया है।

गर्भगृह निर्माण में 1.5 लाख घन मीटर बंसी पहाड़पुर से आए पिंक स्टोन लगेंगे। अभी तक 6000 घन मीटर पत्थर लगाए जा चुके हैं। गर्भगृह मंदिर के ग्राउंड फ्लोर पर होगा। गर्भगृह का काम दिसंबर 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा।राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले गर्भगृह भक्तों के लिए खुल जाएगा। बीजेपी के सूत्रों की माने तो पूर तरह से रणनीति के तौर पर इसकी शुरुआत की जाएगी ताकि आम चुनाव में इसका राजनीतिक लाभ पार्टी को मिल सके।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.