चैनपुरवा कायाकल्प फाउंडेशन के कार्यों से प्रभावित IRS अधिकारियों की टीम, मिलेगा IIM लखनऊ का साथ!

द इंडियन ओपिनियन लखनऊ आई0आई0एम0 लखनऊ में एम0सी0टी0पी0 (मिड कैरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम) कर रहे इंडियन रेवेन्यू सर्विस के लगभग 40 अधिकारियों ने गांधीग्राम वृंदावन योजना लखनऊ में मिशन कायाकल्प के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों को देखा।

आई0आई0एम0 लखनऊ में एम0सी0टी0पी0 (मिड कैरियर ट्रेनिंग प्रोग्राम) कर रहे इंडियन रेवेन्यू सर्विस के लगभग 40 अधिकारियों ने गांधीग्राम वृंदावन योजना लखनऊ में मिशन कायाकल्प के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों को देखा।

दरअसल ,पिछले वर्ष एसपी बाराबंकी रहते हुए डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी , आई0पी0एस0 ने चैनपुरवा गांव में सामाजिक परिवर्तन द्वारा कायाकल्प करने की पहल की थी। ये गांव पिछले तीन दशकों से अवैध शराब बनाने,बेचने और इस्तेमाल करने के लिए कुख्यात रहा है। विशाल बगहर झील से घिरा हुआ यह गांव बाजार, स्कूल, अस्पताल आदि सुविधाओं से वंचित है। जिला प्रशासन के सहयोग से यह पहल चैनपुरवा गांव के निवासियों को प्रेरित करते हुए उन्हें रोजगार के नए अवसर, प्रशिक्षण और उद्यमिता से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

जिलाधिकारी बाराबंकी डॉ0 आदर्श सिंह ने गाँव में वर्किंग शेड बनवा कर इस पहल को मजबूत किया है। सी0डी0ओ0 बाराबंकी सुश्री एकता सिंह के सहयोग से केंद्र और राज्य सरकार की लगभग 15 लाभकारी योजनाओं से गांव को संतृप्त करने का कार्य भी संबंधित सरकारी विभागों से समन्वय बना कर किया जा रहा है। पिछले वर्ष चैनपुरवा कायाकल्प फाउंडेशन का एन0जी0ओ0 के रूप में पंजीकरण करा कर इस कार्य को योजनाबद्ध ढंग से किया जा रहा है।

दीपावली के अवसर पर गांव की महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों ने मधुमक्खी द्वारा अपने छत्ते में जमा किए गए मोम/वैक्स से दीपक बनाने का काम किया गया जो लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर,आगरा, झांसी, वाराणसी, प्रयागराज,अयोध्या, आजमगढ़,अमेठी, सुल्तानपुर के अतिरिक्त दिल्ली, गुड़गांव, बिहार, मुंबई, गुजरात आदि राज्यों में भी बहुत लोकप्रिय हुए। वर्ष 2020 में लगभग 5 लाख दियों से 7.5 लाख रुपये कमाए और वर्ष 2021 लगभग 4 लाख दिए बनाये। अगले वर्ष का लक्ष्य 10 लाख दियों का है। इसके अतिरिक्त गांव में मिठाई के डब्बे, स्टोल/दुपट्टे में गांठें लगाने,वर्मी कंपोस्ट बनाने और आगामी होली के त्यौहार को ध्यान में रखते हुए हर्बल गुलाल बनाने का काम चल रहा है।

मधुमक्खीवाला के नाम से विख्यात युवा श्री निमित्त सिंह मिशन कायाकल्प की रीढ़ हैं और समर्पित ढंग से कार्य कर रहे हैं। उम्मीद संस्था के श्री बलबीर सिंह और उनकी टीम लगातार मिशन कायाकल्प को आगे बढ़ा रही है। इस श्रृंखला में सुल्तानपुर के वन्यजीव अपराध के लिए कुख्यात रहे गांव पकरी और लखनऊ की वृंदावन योजना में स्थित गांधीग्राम में आमूल परिवर्तन का काम भी चल रहा है।

इस अवसर पर आई0आर0एस0 अधिकारी श्री अजय सिंह ने मिशन कायाकल्प के प्रयासों की प्रशंसा करते हुये कहा कि छोटे छोटे प्रयासों से समाज में परिवर्तन लाया जा सकता है। उन्होंने गांधीग्राम के युवाओं का आहवान करते हुये उन्हें आत्मनिर्भर और स्वाबलम्बी बनने की सलाह दी। सेवा का संकल्प विषय पर बोलते हुए उत्तर प्रदेश शासन के अनुसचिव और सुप्रसिद्ध समाजसेवी एस0एन0 सुब्बाराव के अनुयाई श्री अजय पाण्डेय ने कहा कि सेवा का कार्य संक्रामक होता है और सम-मति के लोग एक दूसरे से जुड़ते चले जाते हैं और आज का कार्यक्रम इस बात का प्रमाण है। विश्वास है कि पूरे देश से आए हुए आई0आर0एस0 अधिकारी मिशन कायाकल्प में निहित सेवा के संस्कार और उसकी सफलता की बानगी देख कर अपने कार्य-क्षेत्रों में सामाजिक परिवर्तन की पहल करेंगे। सुप्रसिद्ध सामाजिक-चिंतक श्री अखिलेश सिंह ने ग्लोबल विलेज डेवलपमेंट के कॉन्सेप्ट के विषय में विस्तार से बताया और चैनपुरवा, पकरी और गांधीग्राम को इस योजना से जोड़ने की बात कही।

श्री अखिलेश सिंह ने जनपद लखनऊ में लतीफपुर गांव में विकास के ऐसे मानक गढ़े हैं जिसका संज्ञान भारत सरकार और पीएमओ ने भी लिया है। इस अवसर पर डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने मिशन कायाकल्पः एक सपना के माध्यम से अपने अनुभव साझा करते हुए कहा की ऐसा कार्य करने के लिए पहली शर्त गांव वासियों का विश्वास जीतना होता है। उसके बाद पारदर्शी और योजनाबद्ध कार्य-योजना से बदलाव का काम किया जा सकता है। यह बदलाव केवल भौतिक क्षेत्र में ही नहीं बल्कि मानसिक सोच में भी आवश्यक होता है। इस अवसर पर कार्पोरेट कन्सलटेन्ट श्री आनन्द कृष्ण चतुर्वेदी ने मिशन कायाकल्प टीम को बधाई देते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि आई0.आई0एम0 इस प्रयास को और अधिक परिमार्जित करने और संसाधन उपलब्ध कराने की दिशा में सहयोग करेगा।

इस अवसर पर चैनपुरवा गांव की श्रीमती सुन्दरा ने कहा की जब पिछले वर्ष एसपी साहब हमारे गांव आए थे तो किसी को विश्वास कि हमारे गांव से अवैध शराब का कलंक इतनी जल्दी धुल सकेगा। आज हम लोग अपने पैरों पर खड़े होकर सम्मान की जिंदगी जी रहे हैं। गांधीग्राम के युवा कुणाल ने कहा कि हम लोग भी अपने गांव में इस प्रकार का काम करेंगे जिससे जिससे हमारी आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके। इस अवसर पर चैनपुरवा की महिलाओं ने पारंपरिक गीत प्रस्तुत किया। गांधीग्राम की महिलाओं ने अपनी कंजड भाषा में मंगल गीत गाया। गांव में चैनपुरवा की महिलाओं ने बीज़ वैक्स से दीए बनाने का लाइव डेमो भी दिया। कार्यक्रम के अंत में डॉ0 अरविंद चतुर्वेदी ने करें राष्ट्र निर्माण बनाएं, मिट्टी से अब सोना गीत सभी उपस्थित लोगों के साथ मिलकर गाया और उसके बाद राष्ट्रप्रेम के नारे कश्मीर हो या कन्याकुमारी, भारत माता एक हमारी; लखनऊ हो या हो गौहाटी, अपना देश अपनी माटी; भिन्न भाषा-भिन्न वेष, भारत अपना प्यार देश; जोड़ो-जोड़ो, भारत जोड़ो लगाए गए। सभी अतिथियों ने गांव का भ्रमण किया और मिशन कायाकल्प के कार्यों की सराहना की। श्री विश्वजीत सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया। श्री आशीष पाठक ने कार्यक्रम का संचालन किया।

इस अवसर पर आईआई0एम0 से श्री सायम , सर्व श्री भानू सिंह, विश्वजीत सिंह, आमिर हनीफ, बलवीर सिंह, विक्की सिंह, कृष्ण मोहन सिंह, शिव कुमार, दिनेश यादव, नम्रता तिवारी आदि गणमान्य अतिथि उपस्थिति रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.