पिछड़ा दलित अल्पसंख्यक का भाईचारा, व्यवस्था परिवर्तन और गरीबों के उत्थान के लिए जरूरी -बाबू सिंह कुशवाहा


जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व कैबिनेट मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा है कि ओबीसी दलित और अल्पसंख्यक समाज के बीच भाईचारा और मजबूत गठजोड़ से ही देश में वास्तविक व्यवस्था परिवर्तन और कमजोर वर्गों का उत्थान देखने को मिलेगा ।

बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि आज के लगभग 30 साल पहले उन्होंने मान्यवर कांशीराम के साथ मिलकर इसी तरह बहुजन समाज पार्टी के मिशन की मजबूती के लिए काम किया था जिसका परिणाम यह रहा कि समाज एकजुट हुआ और कई बार बसपा की सरकार आई। उन्होंने कहा कि जन अधिकार पार्टी अब उस अधूरे मिशन को पूरा करने में जुटी है जिसे बाबा साहब अंबेडकर और मान्यवर कांशीराम ने शुरू किया था।

अन्य दलों ने दलित और पिछड़ों के साथ वादाखिलाफी करने का काम किया है अल्पसंख्यकों को केवल डरा कर उनका वोट देने का काम किया है लेकिन जन अधिकार पार्टी पूरी गंभीरता के साथ संविधान के सभी संकल्पों को धरातल पर लागू करने के लिए काम कर रही है। डॉक्टर अंबेडकर के मिशन पर काम कर रही है और उसी के तहत दलित पिछड़ा अल्पसंख्यक भाईचारा बनाओ सम्मेलन उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में आयोजित किए जा रहे हैं जिससे देश का यह कमजोर समाज एकजुट होकर सत्ता में सरकारी योजनाओं में और विकास में अपनी भागीदारी और हिस्सेदारी सुनिश्चित कर सके।

द इंडियन ओपिनियन
लखनऊ

Leave a Reply

Your email address will not be published.