कौन बनेगा MLA? नवाबगंज से बाहुबली बहादुर दावेदार रंजीत! BSP छोड़ BJP में आए नगर पालिका पर कब्जा, MLA पर दावा!

कभी लोग उन्हें अंडरवर्ल्ड की दुनिया के चर्चित खिलाड़ी के रूप में जानते थे अब वह भाजपा के चर्चित नेता हैंl बाराबंकी के रंजीत बहादुर श्रीवास्तव उर्फ लाला रंजीत सदर विधानसभा से विधायक बनने की योजना पर काम कर रहे हैं जेल में बंद माफिया डॉन बबलू श्रीवास्तव के गुरु कहे जाने वाले और रंजीत बहादुर श्रीवास्तव का जीवन किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। छात्र राजनीति लेबर यूनियन की राजनीति और उसके बाद जरायम की दुनिया में 40 से ज्यादा आपराधिक मुकदमों का सामना करने के बाद रंजीत बहादुर श्रीवास्तव का जुड़ाव कई बड़े नेताओं और कई पार्टियों से रहा लेकिन उनकी किस्मत का ताला तब खुला जब उन्होंने भगवा ध्वज हाथों में थाम लिया।

नीले झंडे के सहारे लेकिन निर्दलीय रंजीत बहादुर श्रीवास्तव नगर पालिका चुनाव लड़े थे लेकिन कुछ वोटों से उनकी हार हो गई थी लेकिन जब उन्होंने भगवा झंडा और कमल निशान पर आस्था जताई तो नगरपालिका पर उनका कब्जा ऐसा हुआ कि लगातार दो कार्यकाल से नगरपालिका उन्हीं के इशारों पर चल रही है।

नगर पालिका परिषद बाराबंकी

नगर पालिका के अध्यक्ष पद की कुर्सी पर पिछले 8 वर्षों से लाला रंजीत का कब्जा है और अब उनका साम्राज्य पहले से कई गुना अधिक बढ़ चुका है अधिक सियासी मुनाफा और ऊंचा मनोबल अर्जित करने के बाद अब रंजीत बहादुर श्रीवास्तव बाराबंकी सदर विधानसभा से विधायक बनना चाहते हैं इसके उन्होंने जनता से सुझाव मांगा है खास बात यह है कि जबसे उन्होंने अपने मंसूबे जारी जाहिर किए हैं ज्यादा हड़कंप उनकी अपनी पार्टी भाजपा में ही मचा हुआ है।

भाजपा के कई प्रभावशाली नेता सदर विधानसभा से टिकट की दावेदारी में पूरा जोर लगाए हुए हैं ऐसे में सदर विधानसभा से अपनी दावेदारी ठोकने के बाद लाला रंजीत बहादुर श्रीवास्तव ने अपनी ही पार्टी के बहुत से नेताओं के पैरों तले जमीन खिसका दी है हालांकि अभी उन्होंने जनता से सुझाव मांगा है, लेकिन यह भी उनका एक सियासी दांव माना जा रहा है क्योंकि शहर में मौजूद उनके समर्थक नगर क्षेत्र में मौजूद उनके समर्थक जोर शोर से यह चाहते हैं कि नगरपालिका पर कब्जा करने के बाद सदर विधानसभा पर भी उनके ही नेता का कब्जा हो।

शशि श्रीवास्तव, नगर पालिका अध्यक्ष, बाराबंकी

वर्तमान में उनकी पत्नी नगर पालिका की चेयरमैन है ऐसे में एक हाथ में तो लड्डू पहले से ही है दूसरे हाथ में भी लड्डू आ जाए इसके लिए रंजीत बहादुर श्रीवास्तव मजबूत किलेबंदी में जुटे हैं। अब यह देखने वाली बात होगी कि शहर की जनता और विधानसभा की जनता उन्हें किस तरह का सुझाव देती है।

वहीं शहर में तमाम लोगों का कहना है कि अभी भी शहर के तमाम हिस्से मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं गंदगी और अव्यवस्था से भी जूझ रहे हैं लोगों का मानना है कि नगर के चेयरमैन और चेयरमैन प्रतिनिधि को नगर के सभी वार्डों का स्वयं नियमित भ्रमण करना चाहिए सफाई व्यवस्था मार्ग प्रकाश जल निकासी आदि को स्वयं गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि यदि विधानसभा क्षेत्र में सफलता हासिल करनी है तो नगर क्षेत्र के लोगों को भी संतुष्ट रखना जरूरी है।

हालांकि नवाबगंज विधानसभा में रंजीत बहादुर श्रीवास्तव के समर्थकों की भी अच्छी खासी संख्या है, बहुत से लोग उन्हें पसंद करते हैं यही वजह है कि नगर पालिका क्षेत्र में पिछले दो कार्यकाल से लगातार नगर क्षेत्र की जनता उन्हें अपना आशीर्वाद दे रही है। जिसके दम पर पहले वह खुद नगर पालिका के अध्यक्ष बने और दूसरी बार उन्होंने अपनी पत्नी को चुनाव में जीत हासिल करवाई । जनता कोई भी सुझाव दें लेकिन पहली चुनौती तो पार्टी के लोगों को अपने पक्ष में लामबंद करके टिकट हासिल करने की होगी और टिकट के जुगाड़ में लाला रंजीत बीजेपी के बड़े नेताओं में लगातार अपनी सिफारिश मजबूत कर रहे हैं। उनका कहना है कि वह नवाबगंज विधानसभा से चुनाव लड़ना चाह रहे हैं, क्षेत्र के हजारों लोग उनसे चुनाव लड़ने के लिए कह रहे हैं सोशल मीडिया पर भी हजारों लोगों ने चुनाव लड़ने के पक्ष में टिप्पणी की है, इसका मतलब जनता चाहती है कि वह नवाबगंज से चुनाव लड़े उन्होंने पार्टी में बाराबंकी सदर यानी नवाबगंज सीट से टिकट की दावेदारी की है, पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से इस संबंध में उन्होंने बात भी की है।

द इंडियन ओपिनियन बाराबंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.