जातिवादी राजनीति करने वालों को जनता नकार रही : नितिन अग्रवाल, विधानसभा उपाध्यक्ष

दलों को जातिवाद से उठकर राष्ट्र के लिए काम करना चाहिए

नितिन अग्रवाल ने कहाकि कांग्रेस की तमाम महिला नेता कांग्रेस छोड़ गई

कांग्रेस जब अपने ही महिला नेताओं का सम्मान नही कर सकती तो देश प्रदेश की महिलाओं का क्या सम्मान होगा

-अखिलेश यादव पर भी कसा तंज कहाकि अखिलेश यादव जमीनी हकीकत से दूर हो रहे

-ओमप्रकाश राजभर पर भी नितिन ने कसा तंज कहाकि वह गठबंधन के लिए पार्टियां तलाश रहे

लखीमपुर खीरी प्रकरण पर बोले नितिन अग्रवाल एसआईटी जांच कर रही जांच में दोषी होगा कार्यवाई होगी

हरदोई में विधानसभा उपाध्यक्ष नितिन अग्रवाल ने विपक्षी दलों को निशाने पर रखा और तंज कसते हुए कहाकि जो दल जातिगत राजनीति कर रहे है जनता उनको नकार रही है। दलों को जातिगत राजनीति से हटकर राष्ट्र के लिए काम करना होगा। अखिलेश यादव पर भी नितिन अग्रवाल ने तंज कसा और कहाकि वह जमीनी हकीकत से दूर है।कहाकि कांग्रेस में महिला नेताओं का ही सम्मान नही तो देश प्रदेश की महिलाओं का क्या सम्मान होगा। ओमप्रकाश राजभर को भी उन्होंने निशाने पर रखा और कहाकि वह गठबंधन के लिए दौड़ रहे दलों के पास क्योंकि अकेले वह चुनाव जीतने वाले नही।

विधानसभा उपाध्यक्ष नितिन अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता महिला कांग्रेस नेता कांग्रेस छोड़कर चले गए क्योंकि उन्हें सम्मान नहीं मिला इसलिए कांग्रेस महिला सशक्तिकरण की बात ना करें क्योंकि वह जब अपने पार्टी के नेताओं को सम्मान नहीं दे पा रही है तो देश प्रदेश की महिलाओं को सम्मान किस प्रकार से मिलेगा। अखिलेश यादव के एक ट्वीट को लेकर विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा कि अखिलेश जी अब जमीनी हकीकत से दूर हो चुके हैं सीएम पद से हटने के बाद उन्हें लगता है कि वह काबिल थे और उन्हें पद मिलना चाहिए था लेकिन उत्तर प्रदेश की सरकार 24 करोड़ जनता के लिए समान रूप से कार्य कर रही है। सपा के साथ राजभर के गठबंधन को लेकर उन्होंने कहा कि राजभर पार्टियां ढूंढ रहे हैं गठबंधन के लिए क्योंकि उन्हें लग रहा है वह समझ भी रहे हैं कि वह अकेले चुनाव जीतने की स्थिति में नहीं है भारतीय जनता पार्टी पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है।कहाकि सरकार की लोकप्रियता जिस प्रकार से है जनता सरकार के साथ हैं।

नितिन अग्रवाल ने कहा कि भारत देश देश का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है और अब यूपी की जनता जातिवादी राजनीति को नकार चुकी है। कहाकि जो दल जातिवादी राजनीति करते हैं जनता लगातार उन्हें नकार रही और कई बार यूपी के चुनाव में इसे देखा भी जा चुका है। उन्होंने कहा कि दलों को भी अब जातिवाद से उठकर राष्ट्र के लिए काम करना चाहिए ताकि आने वाली पीढ़ियों को यह पता चले कि राष्ट्र और राष्ट्रभक्ति ही सबसे सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि तमाम राजनैतिक दल किसानों का मुद्दा बनाकर राजनीति करना चाहते हैं वह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि किसान हमारे लिए सर्वोपरि हैं और किसानों के हितों के लिए हम काम कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी के मामले पर नितिन अग्रवाल ने कहा कि लखीमपुर प्रकरण में जो दोषी थे गिरफ्तार किया गया है पूरे मामले की एसआईटी जांच कर रही है। जांच में किसी प्रकार की लापरवाही हीला हवाली नहीं की जा रही है और जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उसके ऊपर सख्त कार्यवाही करेगी।रही बात इस्तीफा मांगने की तो विपक्ष के लोग सरकार से इस्तीफा मांगते ही हैं ऐसे ही कोई मंत्री इस्तीफा भी नहीं दे सकता है दोषी मिलने पर जरूर कार्यवाही की जाएगी।

हरदोई से शिवहरि दीक्षित की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.