“समान काम तो, समान अधिकार मिले”, मांग को लेकर पीआरडी जवानों ने मंत्री को सौंपा ज्ञापन

यूपी के मंत्रिमंडल के विस्तार में बलरामपुर सदर विधानसभा सीट से विधायक पलटू राम को सैनिक कल्याण एवं होमगार्ड मंत्रालय की बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। जिले में तैनात पीआरडी जवानों ने आज होमगार्ड मंत्री पलटूराम को अपनी समस्याओं से संदर्भित एक ज्ञापन सौंपकर समस्याओं के निस्तारण की मांग की है। पीआरडी जवानों द्वारा दिए गए ज्ञापन में जवानों ने समान कार्य, समान वेतन का नियम लागू करते हुए होमगार्ड के बराबर ड्यूटी भत्ता दिए जाने की मांग की है।

पीआरडी जवान ठाकुर प्रसाद ने बताया कि हम चौक चौराहों मंदिर न्यायालय तमाम स्थानों पर अपना अपनी ड्यूटी बखूबी निभाते हैं। लेकिन हमें ड्यूटी भत्ता के रूप में महज ₹375 प्रतिदिन मिलता है। जोकि इस महंगाई में बेहद कम है। जबकि, जो काम हम करते हैं। उतना ही काम होमगार्ड भी करते हैं। उनका भत्ता हम से 2 गुना है। ऐसे में समान कार्य समान वेतन की लागू की जानी चाहिए, जिससे हम सभी पीआरडी जवानों को रोजी-रोटी मयस्सर हो सके। हम भी अपने परिवार का भरण पोषण सुचारू रूप से कर सकें।

पीआरडी जवान राम पांडे ने बताया कि सीआईडी में ब्लॉक कमांडर के कंधे पर एक गोल्डन स्टार और बाजू में मोनोग्राम होता है, जिसके बदले जाने की कवायद चल रही है। हमने ज्ञापन सौंपकर होमगार्ड मंत्री से यह मांग की है कि गोल्डन स्टार व मोनोग्राम को ना बदला जाए। यदि ऐसा होता है तो हम सभी पीआरडी जवान महज सिक्योरिटी गार्ड की तरह दिखेंगे। जबकि हम पूरी तरह उत्तर प्रदेश सरकार के गार्ड हैं।

पीआरडी जवान सनातन पांडे का कहना है कि ड्यूटी के दौरान हमारे पीआरडी जवान कभी-कभी चोटिल हो जाते हैं या उनकी मौत भी हो जाती है। ऐसी स्थिति में हमें कोई भी मदद नहीं मिल पाती है। इसलिए हमने मंत्री पलटू राम को ज्ञापन सौंपकर पीआरडी जवानों के विभागीय तौर पर दुर्घटना बीमा कराए जाने की मांग की है। ₹500000 तक के बीमा के माध्यम से हम अपने परिवार को सुरक्षित रख सकेंगे। यदि किसी पीआरडी जवान की दुर्घटना होती है तो उसे इस बीमा के तहत सहायता राशि मिल सकती है। इससे उसका परिवार का भरण पोषण बेहतर तरीके से हो सकेगा।

पीआरडी जवानों का कहना है कि हमें परेड करने का भी आदेश दिया गया है जो हम बखूबी निभाते हैं। लेकिन हम जवानों को परेड भत्ता नहीं मिलता है, जिसे दिलाया जाना अति आवश्यक है।

पीआईडी जवानों का यह भी कहना है कि हमारे जिला कमांडर को किसी भी तरह का वाहन उपलब्ध नहीं कराया जाता है। जबकि अन्य विभागों में वाहन की सुविधा दी जाती है। ऐसे में हम पीआरडी जवान के कमांडर जिले के 9 ब्लाकों तक नहीं पहुंच पाते हैं। इसलिए हमारे जिला कमांडर को एक फोर व्हीलर सरकारी वाहन भी उपलब्ध कराया जाना चाहिए, जिससे हम पीआरडी जवानों की सही तरीके से देखरेख जिला कमांडर द्वारा की जा सके।

पूरे मामले पर सैनिक कल्याण एवं होमगार्ड मंत्री पलटूराम ने कहा कि पीआरडी जवान बेहतर काम कर रहे हैं। आज पीआरडी जवानों ने मुझे ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में उल्लेखित तथ्यों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष रखा जाएगा और यथासंभव निस्तारित की जाएगी। इसके फलस्वरूप हमारे पीआरडी जवान और बेहतर तरीके से जिले में काम कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.