नूपुर शर्मा और उनके समर्थक थें जिहादी दस्ते के निशाने पर-

बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद से देश में लोग 2 हिस्सों में बंटे हुए नजर आए।दरअसल इस मामले में जो जानकारी सामने आई है, वह चौंकाने वाली है। नूपुर के बयान के बाद राजस्थान के उदयपुर में केवल कन्हैयालाल ही निशाने पर नहीं थे | बल्कि पाकिस्तानी संगठन दावत-ए-इस्लामी और आतंकियों ने राजस्थान में 40 लोगों की टीम को तैयार कर ली थी। इस टीम का काम नूपुर के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वालों को निशाना बनाना था।
दावत-ए-इस्लामी से जुड़े 6 जिलों के लोगों को ये टारगेट दिया गया था कि नुपूर के समर्थन में पोस्ट करने वालों को सबक सिखाएं। एनआईए की टीम ने मंगलवार को उदयपुर में 6 लोगों से पूछताछ की। जिन लोगों से पूछताछ हुई, उनका नाम अंजुमन तालिमुल इस्लामके सदर मुजीब सिद्दिकी, मौलाना जुलकरनैन, पूर्व सदर खलील अहमद, सह-सचिव उमर फारुक और दो वकील शामिल हैं। पटना के फुलवारी शरीफ के नया टोला में देश विरोधी साजिश रचने वाले संदिग्ध आतंकियों का मकसद इस्लाम का विरोध करने वालों से बदला लेना था। इसी मकसद से एसडीपीआई और पीएफआई की आड़ में गुप्त जिहादी दस्ता तैयार करने के लिए बाकायदा ट्रेनिंग दी जा रही थी |

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

Leave a Reply

Your email address will not be published.