असम के बारपेटा जिले से दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया गया-

असम के बंगाईगांव में मंगलवार रात एक अवैध मदरसे को तोड़ दिया गया। मरकाजुल मां आरिफ करियाना मदरसे में 224 बच्चे रहते थे। इनका कनेक्शन आतंकी ग्रुप अलकायदा (AQIS) और ‘अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (ABT)’ से है।

एसपी स्वप्नील डेका ने एएनआई को बताया, “जिला प्रशासन ने एक आदेश में कहा कि मदरसा संरचनात्मक रूप से कमजोर और मानव निवास के लिए असुरक्षित है
क्योंकि मदरसा की इमारतों को एपीडब्ल्यूडी विनिर्देशों/आईएस मानदंडों के अनुसार नहीं बनाया गया था। सरमा ने लोगों खासकर मुस्लिम समुदाय के लोगों से कहा कि वे किसी अजनबी को अपने इलाके की मस्जिद या मदरसे में टीचर के तौर पर काम करते हुए देखते हैं तो वे पुलिस को बताएं।पुलिस उनका इतिहास खंगालेगी।

इससे पहले मोनिका और ग्वालपाड़ा में दो मदरसे को तोड़ा गया था। इनके तार जिहादियों के साथ भी जुड़े थे। बता दें, आतंकी संगठन अलकायदा से जुड़े इमाम और मदरसा शिक्षकों सहित 37 लोगों की गिरफ्तारी के बाद असम सरकार ने ये कार्रवाई की है। ये तीसरा मदरसा है जिसे ध्वस्त किया जा रहा है। भूकंप के सिस्मिक जोन 5 में होने के कारण कभी भी कोई दुर्घटना घट सकती है। लिहाजा इस मदरसे को तोड़ देने की आदेश जारी किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा था कि हाल के दिनों में कुछ मस्जिदों और मदरसों से चरमपंथी संगठनों के कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।

 

ब्यूरो रिपोर्ट ‘द इंडियन ओपिनियन’

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.